नक्सली हिंसा में दो जवानों की मौत

Image caption सीआरपीएफ़ की एक टुकड़ी पर माओवादियों ने घात लगाकर हमला किया.

छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के विभिन्न इलाकों में हुई नक्सली हिंसा में दो पुलिस के जवान मारे गए हैं जबकि दो अन्य घायल हुए हैं.

पुलिस का कहना है कि माओवादी हिंसा का केंद्र माने जाने वाले दंतेवाड़ा के केरलापाल इलाके में केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल यानी सीआरपीएफ़ की एक टुकड़ी पर माओवादियों ने घात लगाकर हमला किया.

घायल जवानों को रायपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

इस हमले में एक जवान की मौत हो गयी जबकि दो अन्य जवानों को गोलियां लगीं. ये जवान गश्त के लिए केरलापाल और उसके आसपास के गाँव में जा रहे थे.

दूसरी घटना

पुलिस का दावा है कि जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी चार नक्सलियों को मार गिराया है. मगर घटना स्थल से किसी भी नक्सली का शव बरामद नहीं हुआ है. पुलिस का कहना है कि नक्सली अपने साथियों के शव लेकर भाग गए.

उधर कांकेर ज़िले के भानुप्रतापपुर में राज्य पुलिस के एक जवान का शव बरामद किया गया है. बताया जाता है कि इस जवान को शनिवार को ही माओवादियों ने अगवा किया था.

इसके अलावा दंतेवाड़ा के सुकमा इलाके में माओवादियों द्वारा एक सड़क निर्माण कंपनी की कुछ मशीनें जला देने की भी ख़बर है.

यह इलाका आंध्रप्रदेश से लगा हुआ है. घटना के बाद से इलाके में दहशत का माहौल है.

संबंधित समाचार