उड़ीसा: मुठभेड़ में पांच 'माओवादी' मारे गए

Image caption मरने वालों में दो महिला माओवादी भी शामिल हैं.

उड़ीसा के जाजपुर ज़िले में सुरक्षाबलों और 'माओवादियों' के बीच हुई मुठभेड़ में पांच माओवादी मारे गए हैं. इनमें दो महिलाएं भी शामिल हैं.

राज्य पुलिस के नक्सल विरोधी अभियान के प्रमुख संजीव मारिक ने बताया कि यह मुठभेड़ रविवार को मध्य रात्रि के बाद हुई. घटना स्थल से भारी मात्रा में गोला बारूद भी बरामद हुआ है.

जाजपुर पुलिस के अनुसार ज़िले के राइघाटी जंगलों में एक 'माओवादी शिविर' चलने कि खबर मिली. इसके बाद माओवादियों से मुकाबले के लिए बनाए गए 'स्पेशल ऑपरेशन्स ग्रुप' यानि एसओजी की सहयता मांगी गई.

मध्य रात्रि के बाद एसओजी और स्थानीय पुलिस की संयुक्त टीम ने इस शिविर पर धावा बोल दिया.

मारिक के अनुसार, ''घटना स्थल से मारे गए पांचों माओवादियों के शवों के अलावा एक एसएलआर, तीन 303 रायफ़ल, आठ एमएम की बन्दुक और दो से तीन देसी रायफ़ल बरामद हुई हैं.''

मुठभेड़ में किसी पुलिसवाले के घायल होने की खबर नहीं है.

मारिक ने कहा, '' इस कैंप में 15 से 20 लोगों के छिपे होने की खबर थी. गोलीबारी में कुछ अन्य माओवादियों के ज़ख्मी होने का संदेह है, लेकिन बचे हुए माओवादी जंगलों की ओर भागने में कामयाब रहे.'' यह मुठभेड़ तड़के तीन बजे तक चली.

पिछले कुछ दिनों में माओवादी विरोधी अभियान में राज्य पुलिस को कई सफलताएँ मिली हैं. हालांकि बारगढ़ ज़िले में एक मुठभेड़ के नाम पर पुलिस द्वारा दो निर्दोष लोगों क़ी हत्या के अरोप भी लगे हैं.

संबंधित समाचार