जानकारी साझा करना 'जल्दबाज़ी' होगी

  • 11 जनवरी 2011
Image caption समझौता एक्सप्रेस धमाकों में 68 लोगों की मौत हुई थी

समझौता एक्सप्रेस में हुए धमाकों की जांच के मामले में भारत ने कहा है कि इस समय पाकिस्तान के साथ जानकारी साझा करना ‘बहुत जल्दबाज़ी’ होगी.

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान ने कुछ ही समय पहले मांग की थी कि उन्हें समझौता एक्सप्रेस की जांच से जुड़ी ताज़ा जानकारी दी जाए.

गृह मंत्रालय ने इस बारे में विदेश मंत्रालय को जानकारी देते हुए कहा है कि वो पाकिस्तान को बताए कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने अभी तक 2007 में हुए समझौता एक्सप्रेस धमाकों की जांच पूरी नहीं की है.

इन धमाकों में 68 लोगों की मौत हुई थी.

जांच के मामले में जानकारी साझा करने के पाकिस्तान के आग्रह के बारे में एक अधिकारी का कहना था, ‘‘इस समय जानकारी साझा करना जल्दबाज़ी होगी. जब ये जांच पूरी हो जाएगी तो हम इस पर फ़ैसला करेंगे. ’’

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अब्दुल बशीत ने कहा था कि वो 2007 के बाद से ही भारत से कहते रहे हैं कि समझौता हमलों के मामले में चल रही जांच के बारे में पाकिस्तान को जानकारी दी जाए.

इस मामले में सोमवार को पाकिस्तान में भारत के उपउच्चायुक्त जीवी श्रीनिवास को पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने कार्यालय में तलब किया था और कहा था कि भारत समझौता एक्सप्रेस मामले में जांच रिपोर्ट जल्दी से जल्दी पाकिस्तान को दे.

पाकिस्तान ने इस मामले में तब जांच रिपोर्ट मांगने में तेज़ी दिखाई है जब भारत में असीमानंद नामक एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है जो कथित रुप से समझौता एक्सप्रेस हमले की साज़िश में शामिल था.

59 वर्षीय कट्टरपंथी असीमानंद ने कथित तौर पर माना है कि समझौता एक्सप्रेस के अलावा उन्होंने अपने साथियों के साथ मिलकर मक्का मस्ज़िद और मालेगांव धमाकों की भी योजना बनाई थी.

संबंधित समाचार