मुम्बई तट पर तेल कुएं मे रिसाव रुका

फ़ाइल फ़ोटो
Image caption मुम्बई के पास तेल का रिसाव

देश की वाणिज्यिक राजधानी मुम्बई के तट से अस्सी किलोमीटर की दूरी पर ओएनजीसी के तेल के कुएं में रिसाव अब रुक गया है. इस रिसाव से लगभग 25,000 बैरल तेल के उत्पादन का नुकसान होने का अनुमान लगाया जा रहा है.

कंपनी का कहना है कि मुम्बई उरान ट्रंक (एमयूटी) तेल पाइपलाईन से शुक्रवार सुबह पौने नौ बजे तेल रिसाव शुरू हुआ. रिसाव स्थल बसैन तेल और गैस फ़ील्ड से दो किलोमीटर दूर था.

इससे पहले शुक्रवार सुबह तट रक्षकों और प्रतिरक्षा सलाहकार ग्रुप के उच्च अधिकारियों को भी तेल रिसाव के बारे में सूचित किया गया था.

शुक्रवार को शाम को आए बयान में ओएनजीसी ने कहा है कि वे कोस्ट गार्ड के साथ मिलकर अब भी रिसाव स्थल की निगरानी कर रहे हैं.

ओएनजीसी के जहाज़ इस पाइपलाईन से रिसाव रोकने के लिए घटनास्थल पर पहुंचे थे.

ओएनजीसी प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया है कि फ़िलहाल ये बताना संभव नहीं है कि कितना तेल रिस कर समुद्र में फैला है. उन्होंने कहा कि अगर वे समुद्र में फैले तेल को अगर 48 घंटों में साफ़ कर पाए तो उसका अर्थ होगा कि रिसाव अधिक नहीं हुआ था.

प्रवक्ता ने कहा 25 हज़ार बैरल तेल के उत्पादन का नुकसान तो हुआ है लेकिन रिसाव की मात्रा जानने के लिए इंतज़ार करना पड़ेगा.

कंपनी के अनुसार जहां रिसाव हो रहा है वहां से तेल और गैस के उत्पादन को 'हीरा उरान ट्रंक पाइपलाईन' की ओर मोड़ दिया गया था.

संबंधित समाचार