पाकिस्तान के साथ साझा करेंगे सबूत

Image caption चिदंबरम का कहना है कि जांच पूरी होने के बाद पाकिस्तान को जानकारी दी जाएगी

भारत के गृह मंत्री पी चिदंबरम ने कहा है कि 2007 में हुए समझौता एक्सप्रेस धमाकों के मामले में जांच पूरी होने के बाद पाकिस्तान के साथ जानकारी साझा की जाएगी.

चिदंबरम ने एक निजी टीवी चैनल के साथ बातचीत में कहा कि इस मामले की जांच में ‘‘कुछ सबूत’’ मिले हैं और जैसे ही जांच पूरी होगी पाकिस्तान को जानकारी दी जाएगी.

उनका कहना था, ‘‘ हमने ये नहीं कहा कि हम सबूत नहीं देंगे. अभी जांच चल ही रही है. जांच का शुरुआती दौर है. जैसे ही जांच पूरी हो जाएगी हम पाकिस्तान के अधिकारियों के साथ सबूत भी साझा करेंगे और जानकारियां भी.’’

चिदंबरम ने बताया कि उन्होंने भारत के रुख के बारे में पाकिस्तान के गृहमंत्री रहमान मलिक को जानकारी भी दी है.

उनका कहना था, ‘‘पहले हमें इस बारे में कोई संकेत नहीं मिल पाए थे कि इस धमाके के पीछे किसका हाथ हो सकता है. अब हमारे पास कुछ सबूत हैं. एक दो लोगों को गिरफ़्तार किया गया है जो संदिग्ध हैं. ’’

गृह मंत्री ने बताया कि हिंदू कट्टरपंथी गुट अभिनव भारत के सदस्य स्वामी असीमानंद ने समझौता मामले में शामिल होने की बात अपने इकबालिया बयान में स्वीकार की है. चिदंबरम के अनुसार असीमानंद ने अदालत में अपने बयान में मालेगांव धमाकों में शामिल होने की बात भी स्वीकार की है.

संबंधित समाचार