असम: छह वन्यजीव कार्यकर्ता अग़वा

  • 7 फरवरी 2011
असम (फाइल चित्र)
Image caption अपहरण से कुछ घंटों पहले ही बोडो चरमपंथियों ने घोषणा की थी कि वो अपनी गितिविधियां तेज़ करेंगें.

कुछ अज्ञात बंदूकधारियों ने असम के मानस राष्ट्रीय उद्यान से अंतरराष्ट्रीय संस्था 'वर्ल्ड वाइल्ड लाइफ फंड' (डब्लूडब्लूएफ) के छह कार्यकर्ताओं को अग़वा कर लिया है.

डब्लूडब्लूएफ वन्यजीवों के अधिकारों के लिए काम करने वाली संस्था है. सभी कार्यकर्ता डब्लूडब्लूएफ के प्रतिनिधियों के तौर पर इस इलाके में हाथियों और बाघों की गिनती के काम से जुड़े थे.

यह इलाका 30 साल से भी लंबे समय से बोडो चरमपंथियों की गतिविधियों का गढ़ है.

इन कार्यकर्ताओं के अपहरण से कुछ घंटों पहले ही बोडो चरमपंथियों ने घोषणा की थी कि वो इन इलाकों में अपनी गितिविधियां फिर तेज़ करेंगें.

अलग राज्य की मांग

बोडो चरमपंथी अपने लिए असम से अलग एक राज्य की मांग कर रहे हैं.

मानस राष्ट्रीय उद्यान बाघों, हाथियों और गैंडे के लिए जाना जाता है. यह राष्ट्रीय उद्यान बोडो आदिवासियों की अलग राज्य की मांग के तहत बनाए गए स्वायत्त बोडो क्षेत्रीय परिषद के अंतर्गत आता है.

अग़वा किए गए डब्लूडब्लूएफ के छह कार्यकर्ताओं में तीन महिलाएं भी शामिल हैं. ये लोग उद्यान में अपने काम में जुटे थे जब लगभग 20 की संख्या में बोडो चरमपंथियों ने उन्हें घेर लिया और उन्हें अपने साथ ले गए.

पुलिस का कहना है कि उन्होंने इन कार्यकर्ताओं की खोज के लिए व्यापक स्तर पर खोज शुरू कर दी है. हालांकि उन्हें फिलहाल इस बारे में कोई जानकारी नहीं कि यह काम किस संगठन का है.

संबंधित समाचार