गोधरा पर राजनीतिक प्रतिक्रिया

गोधरा रेल कांड इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption गोधरा में 27 फ़रबरी 2002 को ट्रेन की एक कोच मे आग लगा दी गई थी.

अहमदाबाद में एक विशेष अदालत ने साल 2002 में गोधरा ट्रेन कांड में 31 लोगों को दोषी पाया है और 63 अन्य को बरी कर दिया है. बरी किए लोगों में मुख्य अभियुक्त मौलवी उमरजी भी शामिल हैं.

दोषी पाए गए सभी लोगों पर हत्या और आपराधिक साज़िश की धाराएं लगाई गई हैं.

ग़ौरतलब है कि 27 फ़रबरी 2002 को गोधरा में एक ट्रेन की कोच में आग लगा दी गई थी जिसमें 59 लोगों की मौत हो गई थी.

अदालत के फ़ैसले पर कांग्रेस की नेता जयंती नटराजन ने कहा, "देखिए हमें अदालत के फ़ैसले का अध्ययन करना होगा. लेकिन ये तो सत्य है कि गोधरा की घटना के बाद जो दंगे हुए उसके नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार ज़िम्मेदार थी."

भाजपा का पक्ष

उधर भाजपा नेता प्रकाश जावड़ेकर ने अदालत के फ़ैसले का स्वागत करते हुए कहा, "हम इस निर्णय की सराहना करते हैं. 31 लोगों को दोषी पाना कोई कम महत्त्व की बात नहीं है.और इसलिए आज सच्चाई साबित हो गई इसकी हमें ख़ुशी है."

उधर गुजरात सरकार ने भी फ़ैसले का स्वागत किया है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री और सरकार के प्रवक्ता जयनारायण व्यास ने मौलवी उमरजी के बरी होने पर कहा कि न्यायिक प्रक्रिया तथ्यों के बल चलती है.

जयनारायण व्यास ने पत्रकारों को बताया, "ये बात तो निश्चित हो गई है कि ये एक षड़यंत्र था और धारा 120 बी और 302 के तहत 31 लोगों को दोषी क़रार दिया गया है. ये न्यायिक प्रक्रिया तटस्थता से हुई है औऱ इसके बाद जो भी फ़ैसला आया है वो अपने आप में कायम है."

व्यास ने कहा कि फ़ैसले की प्रति मिलने के बाद ही सरकार बरी किए गए लोगों के ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट जाने के बारे में निर्णय लेगी.

अदालत के फ़ैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए विश्व हिंदु परिषद के अंतरराष्ट्रीय महानिदेशक प्रवीण तोगड़िया ने 31 लोगों को दोषी पाए का स्वागत किया है.

विश्व हिंदु परिषद ने एक बयान जारी कर अपनी प्रतिक्रिया दी है.

बयान में तोगड़िया ने कहा, "मैं राज्य सरकार से अपील करता हूं कि वे मौलाना उमरजी समेत अदालत द्वारा बरी किए गए सभी लोगों के ख़िलाफ़ ऊपरी अदालत में जाए. तभी जिन हिंदुओं के परिवारों को सही न्याय मिलेगा जिन्हें ज़िंदा जला दिया गया था."

अब अहमदाबाद की ये विशेष अदालत आने वाले शुक्रवार को हत्या और आपराधिक साज़िश के लिए दोषी पाए सभी 31 लोगों को सज़ा सुनाएगी.

संबंधित समाचार