'आयोजन समिति पर ही निशाना क्यों'

सुरेश कलमाड़ी इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption कलमाड़ी ने सरकार पर निशाना साधा है

राष्ट्रमंडल खेलों की आयोजन समिति के प्रमुख रहे सांसद सुरेश कलमाड़ी ने आयोजन समिति के कुछ पदाधिकारियों की गिरफ़्तारी के बाद अब सरकार के विरुद्ध मोर्चा खोल दिया है.

उन्होंने राँची में राष्ट्रीय खेलों के दौरान एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, "जिन सौदों पर उँगलियाँ उठाई जा रही हैं उनके बारे में खेल मंत्रालय को भी पता था और खेलों की कार्यकारिणी के बोर्ड में सरकार के सदस्य भी शामिल थे."

इधर दिल्ली में प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने संसद में एक बार फिर कहा है कि भ्रष्टाचार के किसी भी मामले को सरकार पूरी गंभीरता से ले रही है और किसी को भी बख़्शा नहीं जाएगा.

डॉक्टर सिंह ने कहा, "खेलों के समाप्त होने से पहले ही ग़लत कामों की ख़बरें आने लगी थीं. अगर कहीं कोई हेर-फ़ेर हुई है तो हम उसकी जाँच पड़ताल करेंगे और अगर कोई दोषी पाया गया तो उसे छोड़ा नहीं जाएगा."

मगर खेलों की आयोजन समिति के महानिदेशक वीके वर्मा और महासचिव ललित भनोट की गिरफ़्तारी के बाद कलमाड़ी ने अब सरकारी अधिकारियों को भी घेरने की कोशिश की.

सरकार निशाने पर

उन्होंने कहा, "ऐसा लगता है कि सारा ध्यान आयोजन समिति के सदस्यों पर ही लगा हुआ है. मैं कहना चाहूँगा कि सारे फ़ैसले अलग-अलग स्तरों पर हुए हैं मगर सामूहिक रूप से हुए हैं और किसी एक व्यक्ति ने नहीं किए हैं."

कलमाड़ी का कहना था, "मुझे आश्चर्य है कि जाँच एजेंसियाँ आयोजन समिति के ही सदस्यों को बुला रही हैं और किसी सरकारी अधिकारी की गिरफ़्तारी नहीं हुई है. सभी फ़ैसलों पर खेल मंत्रालय और कार्यकारी बोर्ड की सहमति थी."

उन्होंने मामले की जाँच के लिए संयुक्त संसदीय समिति के गठन की माँग फिर दोहराई और कहा कि फ़िलहाल तो यही आभास होता है कि सारी ग़लती सिर्फ़ आयोजन समिति के ही अधिकारियों ने की है जबकि ऐसा नहीं है.

इस बीच संसद के बजट सत्र में सरकार विपक्ष के निशाने पर है.

भारतीय जनता पार्टी के नेता बलबीर पुंज ने कहा कि सुरेश कलमाड़ी की इस प्रतिक्रिया के बाद लगता है कि शायद इस भ्रष्टाचार में दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार भी शामिल है और इन दोनों की भूमिका की भी जाँच होनी चाहिए.

वहीं खेल मंत्री अजय माकन ने कहा कि सुरेश कलमाड़ी को ख़ुद इस बारे में सोचना चाहिए कि आख़िर क्यों राष्ट्रमंडल खेलों की आयोजन समिति को ही निशाना बनाया जा रहा है.

संबंधित समाचार