बलात्कार के आरोप में निलंबित

एक लड़की के साथ बलात्कार का आरोप लगने के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने अपने एक विधायक दिलीप वाघ को पार्टी से निलंबित कर दिया है.

पार्टी प्रवक्ता नवाब मलिक ने इसकी पुष्टि की.

रिपोर्टों के मुताबिक जलगाँव के पचौरा इलाके से विधायक दिलीप वाघ और उनके निजी सहायक महेश माली पर आरोप है कि उन्होंने एक 21 वर्षीय लड़की को नौकरी देने के बहाने नासिक में बुलाया और वहाँ पहुंचने पर एक सरकारी गेस्ट हाउस में उसके साथ बलात्कार किया.

ये घटना 21 फ़रवरी की बताई जा रही है.

दिलीप वाघ के पिता ओंकार वाघ इसी इलाके से दो बार विधायक रह चुके हैं.

नासिक के एसीपी गणेश शिंदे ने मीडिया को बताया कि ज़िले के सरकारवाड़ा थाने में मामले को दर्ज किया गया है.

विधायक से उनके घर के और उनके मोबाईल फ़ोन दोनों ही पर संपर्क करने की कोशिशों के बावजूद बात नहीं हो पाई.

वैसे एक टीवी चैनल से बातचीत में उन्होंने आरोपों सें इंकार किया और उन्हें राजनीति से प्रेरित बताया.

राज्य के गृहमंत्री आरआर पाटिल का कहना था कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और मामले की जाँच की जा रही है.

उन्होंने इन आरोपों से इंकार किया कि सरकार किसी भी तरह से दिलीप वाघ को बचाने की कोशिश कर रही है.

उनका कहना था, ‘पुलिस का केस दर्ज करना ये दर्शाता है कि पार्टी इस मामले में कोई भी हस्तक्षेप नहीं कर रही है.’

उधर विपक्षी दलों नें सरकार की कड़ी आलोचना की है.

भारतीय जनता पार्टी नेता एकनाथ खड़से का कहना है कि इस घटना से लोगों के प्रतिनिधियों की छवि को धक्का लगा है, खासकर ऐसे वक्त जब महाराष्ट्र अपनी स्वर्ण जयंती मना रहा है.

इस घटना से एनसीपी को काफ़ी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा है. पार्टी नेता ज़्यादा बोलने से बच रहे हैं.

संबंधित समाचार