जस्टिस निर्मल के ख़िलाफ़ चार्जशीट

एक जज के घर पर पैसा पहुँचाने के मामले में सीबीआई ने जस्टिस निर्मल यादव और चार अन्य के ख़िलाफ़ चार्जशीट दाखिल की है. वे सेवानिवृत्त हो रही हैं.

शुक्रवार को चंडीगढ़ में सीबीआई की विशेष अदालत में ये चार्जशीट दायर की गई.

यह मामला 13 अगस्त 2008 का है. आरोप है कि हरियाणा के अतिरिक्त महाधिवक्ता संजीव बंसल के क्लर्क ने कथित रुप से 15 लाख रुपए न्यायमूर्ति निर्मलजीत कौर के घर पहुँचाए.

न्यायाधीश निर्मलजीत ने फ़ौरन इसकी शिकारत चंडीग़ड़ पुलिस में दर्ज करवा दी थी.

बाद में बताया गया कि पैसे दरअसल दूसरी न्यायाधीश निर्मल यादव को पहुँचाए जाने थे. घटना के समय न्यायाधीश निर्मल यादव पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट में जज थी.

राष्ट्रपति ने मंज़ूरी दी

इस घटना के बाद उनको न्यायिक कामकाज से अलग कर दिया गया था और वो अवकाश पर चली गई थीं.

बाद में अतिरिक्त महाधिवक्ता संजीव बंसल ने भी इस्तीफ़ा दे दिया था और उनके क्लर्क प्रकाश चंद और एक प्रॉपर्टी डीलर पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया.

कोर्ट की सुनवाई अब छह अप्रैल को होगी. सीबीआई ने चार्टशीट के साथ तीन पन्नों को वो पत्र लगाया है जिसमें राष्ट्रपति ने पूछताछ करने के लिए मंज़ूरी दी है.

चूँकि सीबीआई को मंज़ूरी हाल ही में मिली है, इसलिए उसका कहना है कि वे मामले से संबंधित दस्तावेज़ जल्द ही दायर करेगा.

संबंधित समाचार