अग़वा नाविकों के मुद्दे पर हंगामा

  • 10 मार्च 2011
इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सोमालिया के समुद्री लुटेरों ने कई जहाज़ों को अपना निशाना बनाया है

करीब सात महीने पहले अग़वा किए गए भारतीय नाविकों के मामले पर राज्य सभा में हंगामा हुआ है.

सोमाली समुद्री लुटेरों ने अगस्त 2010 में मिस्र के मालवाहक जहाज़ ‘एमवी सूएज़’ का अपहरण कर लिया था जिसमें भारतीय नाविक भी थे. उन्हें छुड़ाने की समय-सीमा बुधवार को खत्म हो चुकी है.

इसे लेकर राज्य सभा में हंगामा हुआ है. भारतीय जनता पार्टी ने सरकार से सवाल पूछा है कि अब तक नाविकों को क्यों नहीं छुड़ाया जा सका.

विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने इस मुद्दे पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा है कि भारत सरकार को नाविकों की सुरक्षा की चिंता है और उन्हें छुड़ाने के लिए सरकार हर संभव कोशिश करेगी.

उन्होंने कहा, "नाविकों के संदर्भ में हम शिपिंग कंपनी के साथ संपर्क में है. हमने अग़वा हुए लोगों के परिजनों से भी मुलाक़ात की है."

अपहृत जहाज़ पर छह भारतीयों के अलावा चार पाकिस्तानी, छह भारतीय, चार श्रीलंकाई और मिस्र के 11 लोग भी सवार हैं. इन लोगों को छोड़ने के लिए अपहरणकर्ताओं ने 40 लाख डॉलर की मांग की है.

मंगलवार को भी लोकसभा में इस मुद्दे पर हंगामा हुआ था. विपक्ष ने सरकार से इस मामले में तुरंत दख़ल देने की मांग करते हुए सदन से वॉकआउट कर दिया था.

विदेश मंत्री ने कहा था कि उन्होंने मिस्र के राजदूत से भी इस मसले पर बातचीत की है

संबंधित समाचार