बचावकार्यों ने ज़ोर पकड़ा, अब तक 1000 मरे

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

माना जा रहा है कि जापान में ज़बर्दस्त भूकंप और सुनामी में मरने वालों की संख्या एक हज़ार से ऊपर हो गई है. जापान में शनिवार को भी भूकंप के झटके महसूस किए जा रहे हैं.

देश के दो परमाणु ऊर्जा केंद्र क्षतिग्रस्त हो गए हैं और इस वजह हज़ारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है.

ज़्यादातर लोग दानवाकार लहरों की भेंट चढ़ गए जो तट के दस किलोमीटर अंदर तक मार कर गईं.

जापान में भूकंप अक्सर आते रहे हैं लेकिन इस तरह का भूकंप पहले कभी नहीं देखा गया है.

अधिकारियों के मुताबिक़ भारी तबाही हुई है और पूरे नुक़सान का अंदाज़ा लगाना अभी बहुत मुश्किल है.

भारी नुक़सान

लगभग 100 लोगों से भरा एक जहाज़ भी कहीं बह गया है और उसके बारे में ताज़ा ख़बर मिलने तक कोई जानकारी नहीं मिल पाई है.

चार रेलगाड़ियां भी लापता बताई जा रही हैं.

सबसे ज़्यादा तबाही सेंदाई में हुई है जहां अब तक 300 लोग डूब चुके हैं और सैंकड़ो लोग लापता है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption 100 लोगों से भरा एक जहाज़ भी बह गया है और अब तक कोई पता नहीं चल सका है कि जहाज़ कहां है.

फ़ुकुशीमा दायची परमाणु प्लांट को कुछ तकनीकी ख़राबी के कारण बंद कर दिया गया है और वहां रहने वाले लगभग दो हज़ार लोगों को वहां से हटने के लिए कहा गया है.

ख़बरों के मुताबिक़ मियागी के परमाणु प्लांट से भी आग की लपटें उठती हुई देखीं गई हैं.

जापान सरकार ने एक परमाणु प्लांट के पास आपातकाल घोषित कर दिया है क्योंकि उसे ठंडा रखनेवाले यंत्र ने काम करना बंद कर दिया है.

उसके आसपास रहनेवाले हज़ारों लोगों के मकान खाली करवा लिए गए हैं.

अमरीकी एयरफ़ोर्स के विमानों ने आपात स्थिति में ठंडा कर देने वाले केमिकल वहां पहुंचा दिए हैं लेकिन संयंत्र के अंदर बढ़ रहे दबाव को कम करने की ज़रूरत होगी जिससे कुछ रेडियोधर्मी पदार्थों के लीक होने की आशंका भी है.

जापान की सरकार ने जापानी सीमा में मौजूद अमरीकी सेना से राहत कार्यो में भी मदद की अपील की है.

सुनामी और इससे जुड़े अन्य तथ्य

अमरीकी भौगोलिक सर्वे के मुताबिक़ भूकंप की तीव्रता 8.9 थी और इसका केंद्र टोक्यो से 400 किलोमीटर दूर था.

वैज्ञानिकों का कहना है कि जापान के इतिहास में ये सबसे बड़े भूकंपों में से एक हैं.

भूकंप स्थानीय समयानुसार दोपहर दो बजकर 46 मिनट पर आया जिसके बाद कई बार झटके महसूस किए गए.

इमेज कॉपीरइट a

टीवी फ़ुटेज में दिखाया गया कि कैसे एक बड़ी सी लहर उठी और अपने साथ कई कारों और जहाज़ों को बहा कर ले गई. बताया जा रहा है कि लहर लगभग 10 मीटर ऊँची थी.

भूकंप के झटके टोक्यो में भी महसूस किए गए जहाँ कई जगह आग लग गई.

टोक्यो के पास एक बड़ी तेल रिफ़ाइनरी में आग लग गई है.

संबंधित समाचार