बीएसएफ जवानों की हत्या

  • 15 मार्च 2011
सुरक्षाकर्मी इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption असम में बोडो उग्रवादियों का काफी बोलबाला है.

पूर्वोत्तर राज्य असम में अलगाववादी बोडो विद्रोहियों ने सीमा सुरक्षा बल के पाँच जवानों को मार दिया है.

अधिकारियों का कहना है कि सोमवार को बोडो विद्रोहियों ने हमला किया जिसमें सीमा सुरक्षा बल के पाँच जवान मारे गए.

यह घटना उस समय हुई जब सीमा सुरक्षा बल की एक टुकड़ी भूटान से लगी सीमा की गश्त के बाद लौट रहे थे.

उल्टापानी जंगलों में बोडो विद्रोहियों ने सुरक्षा बलों की टुकड़ी पर हमला किया और पाँच जवानों को मार डाला.

अधिकारियों का कहना है कि तीन जवान मौके पर ही मारे गए जबकि दो जवान बुरी तरह घायल थे और उनकी मौत बाद में हुई.

खुफ़िया विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इस मामले में नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड के कट्टरपंथी गुट का हाथ हो सकता है क्योंकि वो भारत सरकार और उनके नरमपंथी गुट के बीच हो रही बातचीत के विरोधी हैं.

इससे पहले उल्टापानी जंगलों में वर्ल्ड वाइल्डलाइफ फंड के छह कार्यकर्ताओं को अगवा कर लिया गया था लेकिन बाद में सभी को रिहा कर दिया गया.

उधर असम में अलगाववादी विद्रोहियों ने कांग्रेस पार्टी के कार्यालय पर हथगोले फेंके हैं. इसमें तीन कांग्रेस कार्यकर्ता घायल हुए हैं.

इस हमले के लिए यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम (उल्फा) के कट्टरपंथी गुट ने ज़िम्मेदारी ली है.

उल्फा ने धमकी दी है कि वो अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले ऐसे और हमले करेंगे.

संबंधित समाचार