ज़मीन, आसमान और समुद्र सब जगह है पहरा

तटरक्षक इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption भारतीय नौसेना और तटरक्षक को एलर्ट कर दिया गया है

शनिवार को भारत-श्रीलंका के बीच होने वाले 2011 विश्व कप फ़ाइनल मैच के लिए मुंबई में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए है.

तीस हज़ार से ज़्यादा की क्षमता वाले वानखेड़े स्टेडियम के बाहर सुरक्षाबलों का तांता लगा हुआ है. मुंबई पुलिस के अलावा राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड्स, महाराष्ट्र पुलिस की विशिष्ट फ़ोर्स वन, रैपिड ऐक्शन फ़ोर्स सहित अन्य सुरक्षा बलों को भी तैनात किया गया है.

मुंबई पुलिस कमिश्नर अरूप पटनायक ने कल बताया था कि इस बड़े मैच के लिए करीब 5,000 सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है और उन्होंने अपने कैरियर में इतना बंदोबस्त नहीं देखा है.

उन्होंने कहा, ''सुरक्षाबलों और स्टेडियम के स्टाफ़ को बायोमेट्रिक कार्ड दिए गए हैं. पूरे स्टेडियम के आसपास तीन-सतही सुरक्षा व्यवस्था की गई है. अच्छा हो कि दर्शक मैच शुरू होने के तीन घंटे पहले ही स्टेडियम में पहुँच जाएं. स्टेडियम के अंदर और बाहर जाने वाले दरवाज़ों को शायद पाँच बजे के बाद ही बंद कर दिया जाए."

इसके अलावा कई जगहों पर ऐंटी-एयरक्राफ्ट बंदूकों को भी तैनात किया गया है और मुंबई पुलिस, भारतीय नौसेना और तटरक्षक को एलर्ट कर दिया गया है.

कहा जा रहा है कि इस मैच को देखने भारतीय राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा पाटिल भी स्टेडियम में होंगी और श्रीलंका के राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे भी वहां पहुंचेंगे. साथ ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चौहान और कई नामी गिरामी लोग भी इस मैच को देखेंगे.

सुरक्षा एजेंसियां चौकस

मीडिया में ऐसी खबरें आती रही हैं कि चरमपंथी विश्व कप के मैचों को निशाना बना सकते हैं. पुलिस का कहना है कि जिन विदेशियों को टिकट दिए गए हैं, उनके बारे में भी जाँच की जा रही है.

उधर तटरक्षकों का कहना है कि समुद्री सुरक्षा को मज़बूत करने के लिए उन्होंने तेज़ी से हमला करने वाले जहाज़, गश्त लगाने वाले जहाज़ और फ़ास्ट इंटरसेप्टर क्राफ़्ट तैनात किए हैं. साथ ही कई दूसरे चेक प्वाईंट भी बनाए गए हैं.

समुद्र तट से लगे गांवों में लोगों को आगाह किया गया है कि वो चौकस रहें. इसके अलावा सुरक्षा एजेंसियों की मदद करने वाले मछुआरों से भी सजग रहने को कहा गया है. विशिष्ट मरीन कमांडो यानि मारकॉस को हेलीकॉप्टरों के साथ तैनात किया गया है.

महाराष्ट्र के अलावा गुजरात के समुद्री तटों के आसपास भी सुरक्षा बढ़ाई गई है.

मुंबई पुलिस की तरफ़ से लोगों को सलाह दी गई है कि मैच के सभी टिकट बिक गए हैं और वो टिकट हासिल करने की कोशिश न करें और स्टेडियम के आसपास नहीं मंडराएं. दर्शक खाने का सामान, बैग, कैमरा और दूरबीन जैसी चीज़ों को स्टेडियम के अंदर नहीं ले जा सकते है.

वानखेड़े स्टेडियम के आसपास का सारा इलाका यानि दक्षिणी मुंबई मैच के दिन नो फ़्लाई ज़ोन रहेगा. समुद्र के रास्ते दक्षिणी मुंबई जाने के रास्ते सील कर दिए जाएंगे.

एक अनुमान के मुताबिक स्टेडियम के अंदर और बाहर 250 से ज़्यादा सीसीटीवी कैमरों का इस्तेमाल किया जाएगा.

संबंधित समाचार