सत्य साईं बाबा की हालत गंभीर

सत्य साईंबाबा इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption दुनिया भर में सत्य साईंबाबा के भक्तों की बड़ी संख्या है

चर्चित आध्यात्मिक गुरु सत्य साईं बाबा का स्वास्थ्य गंभीर रुप से बिगड़ गया है.

उनकी देखभाल करने वाले डॉक्टरों ने कहा है कि सोमवार को दोपहर बाद से उनकी हालत नाज़ुक हो गई है और उनके शरीर के कई अहम अंगों ने काम करना बंद कर दिया है.

डॉक्टरों का कहना है कि 85 वर्षीय सत्य साईंबाबा के गुर्दे ठीक तौर पर काम नहीं कर रहें हैं जिसकी वजह से डॉक्टरों को डायलिसिस करना पड़ा है.

खुद साईं बाबा की ओर से स्थापित किए गए सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल 'श्री सत्य साईं इंस्टिट्यूट ऑफ़ हायर मेडिकल लर्निंग'में कई विशेषज्ञों का एक दल उनकी चिकित्सा कर रहा है.

इंस्टिट्यूट के निदेशक एएन सफ़ाया ने कहा कि डॉक्टर अपनी ओर से भरसक कोशिश कर रहे हैं.

राज्य सरकार ने भी विशेषज्ञों का एक दल हैदराबाद से पुट्टपर्ति भेजा है जो उनकी हालत पर नज़र रखे हुए है.

हज़ारों लोग जमा

बाबा की हालत बिगड़ने का समाचार सुनते ही उनके हज़ारों भक्त आंध्र प्रदेश के अनंतपुर ज़िले के पुट्टपर्ति में जमा हो गए हैं. अस्पताल के बाहर भी लोगों की बड़ी भीड़ जुटी हुई है.

लोगों की बढ़ती संख्या के मद्देनज़र पुलिस सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. साईं बाबा के भक्तों में देश के कई बड़े राजनेता, सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्टों के जज, सेना के अधिकारियों अलावा व्यापार, खेल और फ़िल्म जगत की कई बड़ी हस्तियाँ शामिल हैं.

ये लोग अक्सर उनके आश्रम में आते रहे हैं.

उनके जन्मदिन और दूसरे समारोहों में देश-विदेश से हजारों भक्त भाग लेते रहे हैं.

साईं बाबा के सामाजिक और धार्मिक संगठनों का एक बड़ा जाल देश विदेश में फैला हुआ है जिसके ज़रिए वे शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करते रहे हैं.

पुट्टपर्ति के सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के ज़रिए गरीबों के लिए गंभीर रोगों की मुफ्त चिकित्सा का प्रबंध किया गया है.

इसके अलावा वे वहाँ एक विश्वविद्यालय भी संचालित करते हैं.

उनके अनेक ट्रस्टों के पास कई हज़ार करोड़ रुपयों की संपति है और उन्होंने पुट्टपर्ति में एक अंतरराष्ट्रीय स्तर के एक विमानतल का निर्माण भी करवाया है.

सामाजिक क्षेत्र में उनकी अहम सेवाओं में सूखे की मार झेलने वाले अनंतपुर ज़िले में पीने के शुद्ध पानी की आपूर्ति के लिए पाइप लाइनें बिछाने का काम शामिल है. जिस पर उन्होंने कई सौ करोड़ रुपए खर्च किए थे.

अपने जीवन काल में वे कई विवादों में भी घिरे रहे हैं.

संबंधित समाचार