अनुपम खेर के घर के सामने प्रदर्शन

  • 9 अप्रैल 2011
Image caption विधानसभा में सदस्यों ने अनुपम खेर के खिलाफ़ विशेषाधिकार हनन का नोटिस पेश किया.

फिल्म अभिनेता अनुपम खेर की ओर से एक टीवी चैनल पर बहस के दौरान कथित तौर पर संविधान के विरुद्ध कहे गए कुछ अपशब्दों के खिलाफ 'रिपब्लिकन पार्टी ऑफ़ इंडिया' के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को उनके घर के सामने प्रदर्शन किया.

समाचार एजेंसी 'पीटीआई' के मुताबिक महाराष्ट्र विधानसभा में सदस्यों ने अनुपम खेर के खिलाफ़ विशेषाधिकार हनन का नोटिस पेश किया.

विधानसभा में यह मामला राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता जीतेंद्र अवहद ने उठाया.

जीतेंद्र ने बीबीसी से बातचीत में कहा कि अनुपम खेर ने कथित तौर पर एक टीवी कार्यक्रम के दौरान संविधान बदलने की बात कही और उसकी तुलना बदलते वक्त में बदलते कपड़ों से कर डाली.

'घर पर पथराव किया'

अवहद के मुताबिक अनुपम खेर को इस नोटिस का जवाब देना होगा.

उधर रिपब्लिकन पार्टी के नेता रामदास अठावले ने चेन्नई से बात करते हुए माना कि उनके कार्यकर्ताओं ने अनुपम खेर के घर पर पथराव किया.

अठावले ने कहा कि उन्हें दुख है कि अन्ना हज़ारे के मंच से जुड़े अनुपर खेर ने पर ऐसी बात कही.

उन्होंने कहा कि वो इस कथित वक्तव्य से बेहद निराश हैं, उन्होंने अन्ना हज़ारे से समर्थन वापस लिए जाने की भी बात कही.

इस बीच अनुपम खेर ने एक निजी समाचार चैनल से बातचीत के दौरान कहा कि उनका यह कहना सही है कि आज़ादी के बाद से अब तक संविधान में कई बार परिवर्तन हो चुके हैं. उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने यह विपरीत प्रतिक्रिया दी है उन्हें पहले इस मामले की पूरी जानकारी हासिल करनी चाहिए.

अनुपम खेर ने कहा कि वो एक पढ़े-लिखे ज़िम्मेदार नागरिक हैं और संविधान के ख़िलाफ़ कभी इस तरह का बेतुका बयान नहीं दे सकते.

संबंधित समाचार