भारत में औद्योगिक उत्पादन घटा

फैक्टरी
Image caption विश्लेषकों को ओधौगिक उत्पादन के 5 प्रतिशत बढ़ने की उम्मीद थी.

भारत में औद्योगिक उत्पादन उम्मीद से कम हुआ है. पूंजीगत सामानों के उत्पादन में आई कमी के कारण ये आंकड़े गिरे हैं.

ताज़ा आंकड़ो के मुताबिक पिछले साल की तुलना में फैक्ट्रियों में उत्पादन फरवरी महीने में 3.6 प्रतिशत की दर से बढ़ा.

विश्लेषकों को औद्योगिक उत्पादन के 5 प्रतिशत बढ़ने की उम्मीद थी.

लेकिन पूंजीगत सामान के उत्पादन में आई गिरावट के बाद इस संख्या में 18.4 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई.

औद्योगिक उत्पादन में निर्माण क्षेत्र में 80 फीसद हिस्सा है.फरवरी महीने में निर्माण क्षेत्र में 3.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई.

पिछले साल निर्माण क्षेत्र में 16.1 फीसद की वृद्धि देखी गई थी.

लेकिन विश्लेषकों का कहना है कि आंकडो में आई कमी चिंताजनक नहीं है

मुम्बई में क्रिसील के डीके जोशी का कहना है कि,"जो उम्मीद की जा रही थी उससे औद्योगिक उत्पादन में कमी आई है लेकिन वो चौकाने वाला नहीं है क्योंकि निर्माण क्षेत्र में आधार मूल्य का ज्यादा होना एक बड़ी भूमिका निभा रहा है.

डीके जोशी ने हालांकि ये भरोसा दिलाया कि अप्रैल और मई महीने तक इस स्थिति में बदलाव आना शुरू हो जाएगा क्योंकि इन दो महीनों के आकडे अभी आने बाकी है.

जोशी का कहना था कि,''इन आंकड़ो से भारतीय रिजर्व बैंक की वित्तीय नीति पर प्रभाव नहीं पड़ेगा .''

उनका कहना था कि,"वित्तीय नीति पर मुद्रास्फीति पर पड़ रहे दबाव और उपभोग के चलते कड़ी निगरानी रखी जाएगी."

जोशी का कहना था कि,"सेंट्रल बैंक से मई में 25 अंकों की बढ़ोतरी हो सकती है."

संबंधित समाचार