विवादित सीडी का मामला सुप्रीम कोर्ट में

  • 19 अप्रैल 2011
प्रशांत भूषण इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption प्रशांत भूषण ने रविवार को सीडी के वितरण के पीछे अमर सिंह का हाथ होने के आरोप लगाए थे

विवादास्पद सीडी का मामला एक ओर जहाँ सुप्रीम कोर्ट पहुँच गया वहीं इस मामले में पुलिस थाने में भी शिकायत दर्ज हो गई है.

सुप्रीम कोर्ट में वरिष्ठ वकील और पूर्व क़ानून मंत्री शांति भूषण ने राजनेता अमर सिंह के ख़िलाफ़ अवमानना का मुक़दमा चलाने की याचिका दायर की है.

उनका आरोप है कि उनकी, समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह की और पूर्व समाजवादी नेता अमर सिंह की बातचीत की जो सीडी सामने आई है वह छेड़छाड़ करके तैयार की गई है.

शांति भूषण के बेटे और वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने रविवार को ही कहा था कि इस सीडी के पीछे प्रत्यक्षतया अमर सिंह का हाथ नज़र आता है.

दूसरी ओर अमर सिंह ने दिल्ली के आईपी एक्सटेंशन थाने में शांति भूषण और प्रशांत भूषण के ख़िलाफ़ आपराधिक शिकायत दर्ज करवाई है और कहा है कि वे सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के बावजूद एक फ़र्ज़ी सीडी बँटवा रहे हैं.

यह विवादास्पद सीडी हाल ही में मीडिया में बँटवाई गई है. इस सीडी में कथित तौर पर शांति भूषण मुलायम सिंह से कह रहे हैं कि वे उनके मामले की सुनवाई कर रहे जज को प्रशांत भूषण के ज़रिए चार करोड़ रुपए देकर मामला सुलझा सकते हैं.

प्रशांत भूषण ने रविवार को ही दो फ़ोरेंसिक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा था कि छेड़छाड़ करके ये सीडी तैयार की गई है.

सुप्रीम कोर्ट में याचिका

शांति भूषण की ओर से मुख्य न्यायाधीश को एक याचिका देकर कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट को ख़ुद ही अवमानना का संज्ञान लेना चाहिए.

उन्होंने कहा है, "याचिकाकर्ता (शांति भूषण) इस अदालत में इसलिए पहुँचे हैं क्योंकि उनके, मुलायम सिंह यादव और अमर सिंह के बीच बातचीत की सीडी छेड़छाड़ करके तैयार की गई है. इससे न्यायपालिका कलंकित होती है और इसे मीडिया में वितरित किया जा रहा है."

छेड़छाड़ का सबूत देने के लिए उन्होंने वे दोनों फ़ोरेंसिक रिपोर्ट जमा किए हैं, जिसे प्रशांत भूषण मीडिया के सामने पहले ही ला चुके हैं.

शांति भूषण ने विशेष जाँच दल से इस बात की जाँच करवाने का भी अनुरोध किया है कि ये सीडी मीडिया में कौन बँटवा रहा है.

प्रशांत भूषण कह चुके हैं कि इस सीडी का उद्देश्य अदालत में चल रहे दो मामलों को प्रभावित करना है.

उनका कहना है कि ये उन्हें और उनके पिता शांति भूषण को और इस तरह से नागरिक समाज को बदनाम करने की साज़िश है.

थाने में शिकायत

Image caption अमर सिंह के टेलीफ़ोन टैपिंग का मामला पहले से ही सुप्रीम कोर्ट में है

उधर अमर सिंह ने थाने में दर्ज शिकायत में कहा है कि शांति भूषण और प्रशांत भूषण सीडी के मामले में उन्हें घसीट रहे हैं.

अपने दो पृष्ठों की शिकायत में अमर सिंह ने कहा है, "उन्होंने एक ऐसी सीडी का वितरण करवाया है जिसमें मेरी बातचीत को ग़ैरक़ानूनी ढंग से टैप करके फिर से उसमें छेड़छाड़ करके रिकॉर्ड किया गया है और इस सीडी का मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है."

उन्होंने बाद में एक प्रेसवार्ता में शांति भूषण और प्रशांत भूषण पर अदालत की आदतन अवमानना करने का भी आरोप लगाया.

अमर सिंह ने विवादास्पद सीडी को लेकर पेश किए गए फ़ोरेंसिक रिपोर्टों पर भी सवाल खड़े किए और कहा कि जिस लैब से ये रिपोर्ट ली गई है वह भूषण के क़रीबी मित्र हैं.

संबंधित समाचार