'साईं बाबा को बचाने की आख़िरी कोशिश जारी'

एक दुकान पर साईं बाबा की तस्वीरें इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption साईं बाबा के भक्त दुनिया भर में फैले हुए हैं.

बहुचर्चित आध्यात्मिक गुरु श्री सत्य साईं बाबा की हालत बेहद नाज़ुक हो गई है और आंध्र प्रदेश के राजस्व मंत्री रघुवीरा रेड्डी ने कहा है कि डॉक्टर उन्हें बचाने की अंतिम कोशिश कर रहे हैं.

पुट्टापर्ति में, जो गत साठ वर्षों से साईं बाबा का केंद्र रहा है, सत्य साईं अस्पताल के निदेशक डॉ एएन सफाया ने गुरूवार को जारी एक बुलेटिन में कहा है की बाबा के शरीर के महत्त्वपूर्ण अंग ठीक ढंग से काम नहीं कर रहे हैं और उन का ब्लड प्रेशर भी काफ़ी गिर गया है.

उनका जिगर सामान्य ढंग से काम नहीं कर रहा है. और सांस लेने में दिक्कत के कारण उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है. गुर्दे काम न करने के कारण उनका डायलिसिस किया जा रहा है.

डॉक्टरों का कहना है की बाबा की हालत कल शाम से ही काफ़ी बिगड़ गई है.

मंत्री रघुवीरा रेड्डी के ताज़ा बयां के बाद पुट्टापर्ति नगर में तनाव काफी बढ़ गया है और वहां जमा हजारों भक्त,जो बाबा को भगवान मानते हैं काफी उत्तेजित हो गए हैं.

अतिरिक्त पुलिस बल तैनात

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption प्रशांति निलयम आश्रम में संपत्ति के लिए खींचतान शुरू हो गई है.

बढ़ते हुए तनाव के मद्देनज़र पुलिस ने पुट्टापर्ति को अपने नियंत्रण में ले लिया है. इस क़स्बे में चार हज़ार अतिरिक्त पुलिसकर्मी पहुंच चुके हैं. अनंतपुर ज़िले के एसपी शाहनवाज़ कासिम ने कहा की नगर में पुलिस चौकियों की संख्या बढ़ा दी गई है और निषेध आज्ञा लागू कर दी गई है. अस्पताल के आस-पास के इलाक़े में दुकानें भी बंद कर दी गई हैं. बाबा के परिवार के सदस्यों और सत्य साईं ट्रस्ट के कुछ वरिष्ठ सदस्यों के अलावा किसी को अस्पताल के अन्दर प्रवेश की अनुमति नहीं दी जा रही है. 86 वर्षीय सत्य साईं बाबा, जो 28 मार्च से ही अस्पताल में भर्ती हैं, विश्व भर में मशहूर हैं और उनके लाखों भक्त कई देशों में फैले हुए हैं. जहाँ बाबा की हालत बिगड़ रही है वहीं सत्य साईं सेंट्रल ट्रस्ट के अंतर्गत आने वाली लगभग 40,000 करोड़ रुपये की संपत्ति को लेकर खींचातानी भी शुरू हो गई है.

संपत्ति के लिए खींचातानी

इन आरोपों के बाद की 'प्रशांति निलयम' आश्रम से कई कीमती चीज़ें और सोने के आभूषण अवैध तरीके से हटा दिए गए हैं, सरकार पर इस बात के लिए दबाव बढ़ रहा है की वो इस ट्रस्ट और उसकी संपत्ति को अपने नियंत्रण में ले ले. ट्रस्ट के दो वरिष्ठ सदस्य सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज पीएन भगवती और मुंबई के एक मशहूर चार्टर्ड अकाउंटएंट इन्दुलाल शाह भी पुट्टापर्ति पहुंच गए हैं. पुट्टापर्ति के साथ-साथ आस पास के अन्य नगरों धर्मावरम और अनंतपुर में भी सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. इस बीच पुट्टापर्ति के हवाई अड्डे पर भी विमानों के उतरने के लिए ज़रुरी इंतज़ाम किए जा रहे हैं.

संबंधित समाचार