ओबामा-मनमोहन की ओसामा कार्रवाई पर चर्चा

  • 10 मई 2011
ओबामा-मनमोहन
Image caption ओबामा नवंबर में भारत में मनमोहन सिंह से मिले थे

सोमवार की सुबह अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को फ़ोन किया और पाकिस्तान में ओसामा बिन लादेन के खिलाफ़ की गई सफल अमरीकी कार्रवाई और संबंधित मुद्दों पर चर्चा की.

व्हाइट हॉउस से जारी एक ब्यान में कहा गया है कि ओबामा और मनमोहन सिंह ने क्षेत्रीय मुद्दों पर बातचीत की है.

बयान में ये भी कहा गया है कि दोनों नेताओं ने रक्षा क्षेत्र में मज़बूत साझेदारी कायम करने, रणनीतिक डायलॉग, आंतरिक सुरक्षा और आधुनिक तकनीक के क्षेत्रों में सहयोग पर विचारों का आदान-प्रदान किया.

'किसकी मदद से रह रहे थे ओसामा?'

अमरीकी राष्ट्रपति पिछले साल नवंबर में भारत के दौरे पर गए थे और दोनों देशों के बीच कई क्षेत्रों में समझौते हुए थे.

लगभग एक सप्ताह पहले एक अमरीकी ऑपरेशन में पाकिस्तान के शहर ऐबटाबाद में ओसामा बिन लादेन की गुप्त रिहायश पर हुए हमले में ओसामा अमरीकी कमांडो के हाथों मारे गए थे.

एक अमरीकी नेटवर्क को दिए गए इंटरव्यू में ओबामा ने कहा है कि पाकिस्तान इस बात की जांच करे कि बिन लादेन पाकिस्तान में किसकी मदद से इतने सालों से रह रहे थे.

अमरीकी राष्ट्रपति के अलावा अमरीका के कई नेताओं ने पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी के कुछ तत्वों की मिलीभगत के आरोप लगाते हुए ओबामा प्रशासन पर पाकिस्तान को वित्तीय मदद पर पुनर्विचार करने का दबाव बनाया है.

लेकिन पाकिस्तानी प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने सोमवार को दिए एक बयान में इन आरोपों को ख़ारिज किया है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार