माओवादियों के बंद का 'व्यापक असर'

माओवादी (फ़ाईल फ़ोटो) इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption बंद का व्यापक असर हो रहा है.

उन्नतीस अप्रैल को बिहार में अपने शीर्ष नेताओं की गिरफ़्तारी और उत्तर प्रदेश में किसानों पर हो रहे कथित दमन के ख़िलाफ़ माओवादियों के 48 घंटों के बंद के दौरान हिंसा की ख़बरें आ रहीं हैं. यह बंद 22 मई की मध्य रात्री तक चलेगा.

उड़ीसा के सुंदरगढ़ ज़िले में रक्सी और रेंजेदा रेलवे स्टेशनों के बीच माओवादियों ने ज़ोरदार धमाका कर रेल की पटरियों को उड़ा दिया.

वहीं इसी ज़िले के चूनाघाटी इलाक़े में माओवादियों ने दर्जनभर से ज़्यादा डंपरों में आग लगा दी है.

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में भी माओवादियों द्वारा कुछ वाहनों को आग के हवाले किए जाने की ख़बर है.

साथ ही किरन्दूल और भांसी रेलवे स्टेशनों के बीच रेल की पटरी उड़ाए जाने की बात कही जा रही है.

असर

झारखण्ड और छत्तीसगढ़ के ग्रामीण इलाक़ों में ज़िन्दगी थम सी गई है क्योंकि निजी वाहनों का परिचालन पूरी तरह बंद है.

छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के कई हिस्सों में माओवादियों ने सड़कों पर पेड़ काट कर डाल दिए हैं जिससे सड़क यातायात पूरी तरह बंद हो गया है.

ग्रामीण इलाक़ो में व्यावसायिक प्रतिष्ठान भी पूरी तरह बंद हैं.

संगठन की केंद्रीय कमेटी के प्रवक्ता अभय ने बीबीसी को एक विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि 29 अप्रैल को बिहार के कटिहार ज़िले से संगठन के वरिष्ट नेताओं को पुलिस द्वारा गिरफ़्तार किया गया है.

इनमे फुलेंदु मुखर्जी, वाराणसी सुब्रमण्यम, विजय कुमार आर्य, उमेश यादव, निखेलाल चौधरी, श्यामजी ऋषि और अनिरुद्ध रविदास शामिल हैं.

माओवादियों ने इन नेताओं की बिना शर्त रिहाई की मांग की है.

यह बंद प्रमुख रूप से छह राज्यों में बुलाया गया है.

इन राज्यों में छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, झारखण्ड, बिहार, उड़ीसा और आंध्र प्रदेश के अलावा महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले के चंद्रपुर और गोंडिया के इलाक़े भी शामिल हैं.

हत्या

इसके अलावा माओवादियों नें छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में एक विशेष पुलिस अधिकारी सहित दो की हत्या कर दी है.

माओवादियों द्वारा बीजापुर के चेरपाल से अग़वा किए गए विशेष पुलिस अधिकारी रमैय्या की लाश शनिवार को सड़क के किनारे से बरामद की गई.

रमैय्या का अपहरण माओवादियों नें 18 मई को किया था.

दूसरी घटना दंतेवाड़ा की है जहाँ माओवादियों ने पुलिस का मुख़बिर होने के शक में कवासी देव नाम के एक युवक की हत्या कर दी.

देव का भी शव सड़क के किनारे से बरामद किया गया.

पुलिस का कहना है कि दोनों ही व्यक्तियों की गला रेत कर हत्या की गई है.

संबंधित समाचार