डायन बताकर महिला और पति की आँखें फोड़ीं

Image caption झारखण्ड की इस महिला पर भी डायन का आरोप लगा कर उसकी पिटाई की गई थी और ज़ख्मों पर मिर्च लगाई गई थी.

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के पास बलौदा बाज़ार के सौरा गाँव में तनाव का माहौल है.

शुक्रवार की दोपहर यहां एक दंपत्ति की आँखें इस लिए फोड़ दी गयीं क्योंकि उनपर काला जादू करने का आरोप था. इस काम को कुछ लोगों और पीड़ित दंपत्ति के रिश्तेदारों ने मिलकर अंजाम दिया है.

इतना ही नहीं, हमलावरों ने महिला की ज़बान भी काट दी है. इस मामले में पुलिस ने अबतक दस लोगों को गिरफ्तार किया है जो उसी गाँव के निवासी हैं. कुल 11 लोगों को इस मामले में अभियुक्त बनाया गया है.

घायल दंपत्ति का इलाज सरकारी अस्पताल में चल रहा है.

अधेड़ उम्र की महिला श्यामकुंवर पर आरोप है कि वह डायन है. आरोप है कि उसके डायन होने की वजह से गाँव में लोग बीमारी और परेशानियों से जूझ रहे हैं.

यह आरोप उसके अपने रिश्तेदारों और कुछ गाँव के लोगों ने किसी बैगा यानी तांत्रिक के कहने पर लगाया है.

पुलिस का कहना है कि कुछ दिनों पहले भी इसी दंपत्ति पर गाँव के लोगों ने यही आरोप लगाते हुए हमला किया था. हालांकि गाँव के ही कुछ लोगों के बचाओ में आने के कारण वह बच गए थे.

ओझा तांत्रिकों का चक्कर

मगर शुक्रवार को आरोपियों ने साथ मिलकर मंशाराम बंजारे के घर पर धावा बोल दिया.

इस हुजूम ने आरोप लगाया कि श्याम कुंवर जादू टोना करती है जिस वजह से गाँव में विपत्तियों का दौर चल रहा है.

भीड़ ने अचानक महिला पर हमला कर दिया. पुलिस का कहना है कि जब मंशाराम बंजारे अपनी पत्नी को बचाने की कोशिश करने लगे तो भीड़ नें उनपर भी हमला कर दिया.

इसके बाद भीड़ ने पति-पत्नी के हाथ पाँव-बाँध दिए और एक कैंची से उनकी आँखें फोड़ दीं.

मामला सिर्फ इतने पर ही ख़त्म नहीं हुआ. जाते जाते भीड़ ने महिला कि ज़बान भी काट डाली.

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि घटना को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी घायल दंपत्ति को लहुलुहान अवस्था में उनके घर पर छोड़ कर चले गए. इस बीच गाँव के ही किसी व्यक्ति ने लवन थाने में घटना की सूचना दी.

झारखण्ड, छत्तीसगढ़ और उड़ीसा में डायन कहकर महिलाओं पर हमलों की बात आम होती जा रही है. यह सब बावजूद इसके है कि झारखण्ड और छत्तीसगढ़ में इससे निपटने के लिए अलग से कानून भी बनाया गया है.

इन राज्यों के ग्रामीण इलाकों में लोग आज भी ओझा तांत्रिकों के चक्कर में पड़े हुए हैं जो गाँव की महिलाओं को डायन बताकर उनकी संपत्ति हड़पने की कोशिश करते हैं.

बलौदा बाज़ार की घटना को छत्तीसगढ़ के महिला आयोग ने काफी गंभीरता से लिया है. आयोग की अध्यक्ष विभा राव ने पुलिस से इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने को कहा है.

संबंधित समाचार