अजित सेठ बने नए केबिनेट सचिव

  • 25 मई 2011
इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अजित सेठ नए केबिनेट सचिव

उत्तर प्रदेश काडर के आईएएस अधिकारी अजित कुमार सेठ को भारत का नया केबिनेट सचिव बनाया गया है. वह केएम चंद्रशेखर का स्थान लेंगे जो पिछले चार सालों से इस पद पर कार्यरत थे. इनको दो बार सेवा विस्तार मिल चुका था.

इस समय 59 वर्षीय सेठ केबिनेट सचिवालय में लोक शिकायत व समन्वय सचिव हैं. वह 13 जून तक केबिनेट सचिवालय में ऑफ़िसर ऑन स्पेशल ड्यूटी के तौर पर काम करेंगे और अगले दिन केबिनेट सचिव का पद सँभाल लेंगे.

सेठ की नियुक्ति में सरकार ने कड़ाई से वरिष्ठता को तरजीह दी है. अजित सेठ 1974 बैच के सबसे वरिष्ठ अधिकारी हैं.

पुलक चटर्जी पर तरजीह

इस पद की दौड़ में उन्होंने पुलक चटर्जी को पीछे छोड़ा है जिन्हें गाँधी परिवार का नज़दीकी माना जाता है. चटर्जी इस समय विश्व बैंक में कार्यकारी निदेशक के पद पर काम कर रहे हैं.

वे 24 नवंबर 1951 में जन्मे और उन्होंने रसायन शास्त्र में सेंट स्टीफ़ेंस कालेज से एमएससी की है. वह बर्किंघम विश्व विद्यालय से विकास वित्त में भी डिग्री ले चुके हैं.

सेठ जिनीवा में भारत के स्थाई मिशन में प्रथम सचिव और दिल्ली में छह वर्षों तक उत्तर प्रदेश के रेज़िडेंट आयुक्त भी रह चुके हैं.

जानकार मानते हैं कि सेठ की छवि एक साफ़ सुथरे नौकरशाह की है. वह लोगों को साथ ले कर चलते हैं और नियमों के अनुसार काम करते हैं.

अगले कुछ महीनों में कंद्र सरकार में उच्च प्रशासनिक स्तर पर कई पद ख़ाली होने वाले हैं.

वित्त सचिव सुषमा नाथ, राजस्व सचिव सुनील मित्रा, गृह सचिव जीके पिल्लई और रक्षा सचिव प्रदीप कुमार अगले कुछ महीनों में रिटायर होने वाले हैं. सेठ के बाद सरकार को इन महत्वपूर्ण पदों पर अधिकारियों की नियुक्ति करनी है.

संबंधित समाचार