मुस्लिम लड़की को गोद लेने वाला जेल में

सानिया फ़ातिमा
Image caption सानिया फ़ातिमा गोकुल चाट भंडार पर हुए धमाके के बाद अनाथ हो गई थी.

हैदराबाद पुलिस ने एक अनाथ मुस्लिम लड़की को शरण देनेवाले व्यक्ति पापालाल को गिरफ़्तार कर लिया है. पापालाल ने 2007 अगस्त में शहर में हुए बम धमाकों के बाद अनाथ हुई एक मुस्लिम लड़की को सहारा दिया था.

सानिया फ़ातिमा नाम की ये लड़की पापालाल को हैदराबाद के गोकुल चाट भंडार पर हुए धमाके के बाद घायल अवस्था में मिली थी. उसके परिवार का पता नहीं चल पाया था. हालांकि उसने इसके लिए क़ानूनी कार्रवाई पूरी नहीं की थी.

अब हैदराबाद के गोशामहल क्षेत्र की पुलिस ने पापालाल को उनके सगे भाई लालचंद की उस शिकायत पर गिरफ्तार किया है जिसमें उनपर अपनी भाभी से बलात्कार की कोशिश का आरोप है.

बाद में पुलिस ने लालचंद को भी गिरफ़्तार कर लिया है.

हालांकि पापालाल की पत्नी का दावा है कि उनके पति पर यह मुसीबत केवल इस लिए टूटी है कि उन्होंने एक मुस्लिम लड़की को शरण दी है जिसका विरोध उनके परिवार और मोहल्ले के दुसरे लोग शुरू से विरोध करते रहे हैं.

अपनी गिरफ़्तारी से पहले ही पापालाल ने आरोप लगाया था कि उस के अपने सगे संबंधी और अड़ोस-पड़ोस के लोग और कुछ संगठन हमेशा से दबाव डालते रहे हैं कि वो उस लड़की को अपने घर पर न रखे.

भाईयों का झगड़ा

Image caption सानिया फ़ातिमा पापालाल की पत्नी जयश्री और पापालाल के बेटी एकता के साथ.

पापालाल ने कहा कि उनपर बार-बार बच्ची को अनाथालय या फिर किसी सरकारी संस्था को सौंपने का दबाव बनाया जाता रहा था. लेकिन पापालाल ने ऐसा करने से साफ़ इंकार कर दिया और क़ानूनी रूप से उस लड़की सानिया फ़ातिमा को गोद लेने का फैसला किया. उन्होंने राज्य मानवाधिकार आयोग में भी परेशान किए जाने और परिवार की सुरक्षा को ख़तरे की शिकायत की थी. आयोग ने पुलिस को आदेश दिया था कि वो पापालाल और उसके परिवार को सुरक्षा मुहैया कराए.

ताज़ा गड़बड़ बुधवार की रात को शुरू हुई जब लालचंद की पत्नी और सानिया फ़ातिमा के बीच झड़प हुई. ये झड़प बढ़ते-बढ़ते पापालाल तक पहुँच गई.

उसके बाद पापालाल और उनकी भाभी के बीच कहासुनी हो गई. को उसपर बूरा भला कहा.

लालचंद मामला पुलिस में ले गए और उन्होंने पापाचंद पर भाभी पर हमला करने और उनका बलात्कार करने की कोशिश की शिकायत दर्ज करवा दी. पुलिस ने पापालाल को गिरफ्तार करके अदालत में पेश किया जिसके बाद उसे जेल भेज दिया गया है. मोहल्ले के कुछ लोगों का कहना है कि दोनों भाईयों के बीच जायदाद का झगड़ा है जिसके बीच ये लड़की बेवजह की निशाना बन गई है.

संबंधित समाचार