'कार्रवाई के अलावा विकल्प नहीं था'

मनमोहन सिंह इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption प्रधानमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार के मुद्दे पर सरकार गंभीर है

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने दिल्ली के रामलीला मैदान में बाबा रामदेव के ख़िलाफ़ हुई कार्रवाई को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है..

लेकिन उन्होंने यह कहते हुए कार्रवाई का बचाव भी किया कि इसके अलावा कोई विकल्प नहीं था.

दिल्ली में एक समाचार पत्र के कार्यक्रम में शामिल होने पहुँचे मनमोहन सिंह ने पत्रकारों के सवालों के जवाब में रामदेव के ख़िलाफ़ कार्रवाई का बचाव किया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार भ्रष्टाचार और काले धन को लेकर चिंतित है और उसके ख़िलाफ़ कार्रवाई को लेकर गंभीर भी है.

इनकार

लेकिन यह भी कहा कि उनके पास कोई जादू की छड़ी नहीं.

उन्होंने कहा, "ये दुर्भाग्य की बात है कि पुलिस को कार्रवाई करनी पड़ी. लेकिन ईमानदारी से कहूँ तो इसके अलावा कोई विकल्प नहीं था."

क्या प्रधानमंत्री को भी लोकपाल के दायरे में लाना चाहिए, इस सवाल पर मनमोहन सिंह ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.

उन्होंने सिर्फ़ इतना कहा कि इस मामले पर लोकपाल विधेयक का मसौदा तैयार करने वाली समिति विचार कर रही है.

संबंधित समाचार