अधिकांश लापता मछुआरे मिले

नौका
Image caption शेष नौकाओं की तलाश के लिए सेना की मदद ली जा रही है

पश्चिम बंगाल के सुंदरबन मामलों के मंत्री का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में पिछले दो दिनों से लापता मछली मारने वाली 36 नौकाओं में से चार के अलावा सभी का पता चल गया है.

इन नौकाओं में कुल 550 मछुआरे थे और मंत्री का कहना है कि अब सिर्फ़ 35-40 मछुआरों की तलाश जारी है.

इन मछुआरों की तलाश करने के लिए भारतीय नौसेना की मदद ली जा रही है.

इस बीच राज्य में कई जगह भारी बारिश की वजह से बाढ़ की स्थिति है.

सेना की मदद

नौसैना का एक ज़हाज़ विशाखापट्नम से बुलाया गया है.

भारतीय तटरक्षक सेना ने नौकाओं और मछुआरों को ढूढ़ने के काम में शनिवार को तीन ज़हाज़ों की तैनाती की है जिसमें एक हॉवर क्राफ़्ट भी शामिल है.

दक्षिण 24 परगना के काकद्वीप और पूर्वी मिदनापुर के दीघा से गए इन 36 ज़हाज़ों का संपर्क बंदरगाहों से टूट गया था.

पश्चिम बंगाल में सुंदरबन मामलों के मंत्री श्यामल मंडल ने बीबीसी को बताया, "कुछ नौकाएँ बांग्लादेश की सीमा में चली गई थीं और कुछ भारतीय सीमा में ही मिल गईं."

उनका कहना था कि अब सिर्फ़ चार नौकाओं और 35-40 लोगों की तलाश करना शेष है.

इस बीच राज्य में लगातार हो रही बारिश और उससे कई इलाक़ों में पैदा हुए बाढ़ के हालात में छह लोगों के मारे जाने की ख़बर है.

लगातार बारिश और उसके बाद कई इलाक़ों में बाढ़ की स्थिति को देखते हुए राज्य प्रशासन ने पश्चिम बंगाल के सात दक्षिणी और तीन उत्तरी ज़िलों में एलर्ट घोषित कर दिया है और स्थानीय प्रशासन को किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने को तैयार रहने को कहा है.

संबंधित समाचार