'मुझे बदनाम करने की कोशिश'

  • 8 जुलाई 2011
कपिल सिब्बल
Image caption प्रशांत भूषण ने सिब्बल के ख़िलाफ़ सीबीआई जांच की मांग की है.

दूरसंचार मंत्री कपिल सिब्बल ने उनके ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका को ख़ारिज करते हुए कहा है कि ये याचिकाकर्ता ने उनसे बदला लेने के लिए दायर की है.

गुरुवार को जाने-माने वकील प्रशांत भूषण ने उनके ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की थी, जिसमें ये कहा गया था कि सिब्बल ने बतौर दूरसंचार मंत्री, अनिल अंबानी की रिलायंस कम्युनिकेशन को पर लगाई जाने वाले हरजाने को 650 करोड़ रुपए से घटाकर पांच करोड़ कर दिया था.

'2जी से लेना-देना नहीं'

कपिल सिब्बल ने अपनी सफ़ाई में कहा है कि उन पर लगाए जा रहे आरोप बेबुनियाद हैं और लोगों को गुमराह करने के मक़सद से उनके ख़िलाफ़ याचिका दायर की गई है.

इस मामले में अपना पक्ष रखने के लिए कपिल सिब्बल ने शुक्रवार को दिल्ली में एक पत्रकार सम्मेलन में कहा, “ये याचिका ग़लत मक़सद से दायर की गई है. मुझे बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. मुझे इस बात पर आश्चर्य होता है कि आए दिन कोर्ट में 2-जी मामले से ही जुड़ी याचिकाएं क्यों दर्ज की जा रही है.”

कपिल सिब्बल ने कहा कि इस याचिका का 2-जी मामले से कोई लेना देना नहीं है, जिसकी सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में पहले से ही चल रही है.

प्रशांत भूषण ने अपनी याचिका में मांग की है कि एक निजी कंपनी को फ़ायदा पहुंचाने के लिए अपने पद का ग़लत इस्तेमाल करने के लिए सिब्बल के ख़िलाफ़ सीबीआई जांच के आदेश दिए जाने चाहिए.

ग़ौरतलब है कि गुरुवार को ही 2-जी मामले में गंभीर आरोप लगने के बाद कपड़ा मंत्री दयानिधि मारन ने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया था.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार