चुनाव तक मंत्रिमंडल का अंतिम फेरबदल: मनमोहन

मनमोहन सिंह इमेज कॉपीरइट BBC World Service

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि मंगलवार को मंत्रिमंडल में हुआ फेरबदल 2014 में होने वाले आम चुनाव के पहले का आख़िरी बदलाव है.

हालांकि प्रधानमंत्री ने स्पष्ट किया है कि 'गठबंधन धर्म' को ध्यान में रखते हुए अब भी मंत्रिमंडल में सहयोगी पार्टी द्रमुक के लिए दो स्थान रिक्त रखे गए हैं.

मंगलवार को राष्ट्रपति भवन में हुए 11 मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह के बाद मनमोहन सिंह ने पत्रकारों से बात की.

मनमोहन सिंह ने कहा, "इस फेरबदल से राज्यों के प्रतिनिधित्व में समानता, कार्यकुशलता को महत्व और निरंतरता पर ज़ोर की भावना को बल मिलेगा."

आगामी चुनावों की बात करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, "जहाँ तक मेरा सवाल है तो 2014 के लोक सभा चुनाव के पहले का ये आख़िरी फेरबदल है."

यह पूछे जाने पर कि मंत्रिमंडल में हुए फेरबदल से क्या लोग नाराज़ हैं प्रधान मंत्री ने कहा, "जब भी विभागों का बंटवारा होता है तब कुछ दिक्कतें आतीं ही हैं. हमने देश के बेहतर हित का ध्यान रखा है."

द्रमुक के लिए स्थान

साथ ही प्रधानमंत्री ने अपने सहयोगी दल द्रमुक के मंत्रिमंडल में दो रिक्त स्थानों के बारे में भी बताया.

उन्होंने कहा, "ये हमारे 'गठबंधन धर्म' का हिस्सा है. मुझे उम्मीद है कि उनकी तरफ़ से भी फ़ैसला जल्दी ही आता होगा."

2-जी स्पेक्ट्रम आबंटन मामले में चल रही जांच के दाएरे में आने के बाद द्रमुक के दो पूर्व मंत्रियों ए राजा और दयानिधि मारन को इस्तीफ़ा देना पड़ा था.

माना जा रहा है कि द्रमुक का नेतृत्व आगामी 23 जुलाई को होने वाली पार्टी की अहम बैठक के बाद रिक्त हुए दो मंत्रिमंडल पदों पर फ़ैसला ले सकता है.

प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह ने बार-बार पूछे जाने पर भी इस बात के कोई संकेत नहीं दिए कि सरकार के समक्ष दिक्कतें हैं.

उन्होंने लगातार यही कहा कि 'उन्हें भरोसा है सभी दिक्कतें दूर हो जाएँगी'.

संबंधित समाचार