घायलों ने नए रेल मंत्री पर ग़ुस्सा उतारा

दिनेश त्रिवेदी
Image caption दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि ममता बनर्जी ने उन्हें आदेश दिया कि वे घायलों के परिजनों से मिलें.

रेल मंत्रालय का प्रभार दिए जाने के तुरंत बाद मंगलवार देर रात दिनेश त्रिवेदी यूपी रेल हादसे में घायल हुए लोगों से मिलने कानपुर पहुंचे.

लेकिन इससे पहले कि वे अस्पताल में भर्ती लोगों की हालत का जायज़ा ले पाते, ग़ुस्साए लोगों ने उन्हें घेर लिया और अपना आक्रोश उन पर बरसाया.

घायल लोगों के परिजनों ने उनके और रेलवे अधिकारियों के ख़िलाफ़ नारे लगाए.

उनका कहना था कि पुलिस और रेलवे अधिकारियों ने उन्हें पूरा सहयोग नहीं दिया और उनसे पूछे बिना ही उनके परिजनों के शव ले जाए गए.

लोगों का आक्रोश देख कर रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने पिछले हफ़्ते हुए रेल हादसों पर शोक जताया और मरने वालों के परिवार के लिए एक नौकरी की घोषणा कर डाली.

उन्होंने कहा, “पूर्व रेल मंत्री ममता बनर्जी ने मुझे यहां आने का आदेश दिया था. मुआवज़ा देने से लोगों के नुक़सान की भर्रपाई कभी नहीं हो सकती. फिर भी, जिसने जान गंवाई है, उसके परिवार के सदस्य को रेलवे की एक नौकरी मिलेगी. ये ममता जी का आदेश है.”

दिनेश त्रिवेदी अस्पताल में 15 मिनट तक रुके जिसके दौरान उन्हें घेर लिया गया और उनके साथ धक्का-मुक्की भी की गई.

पिछले हफ़्ते उत्तर प्रदेश के फ़तेहपुर ज़िले में मलवां स्टेशन के पास हुई हावड़ा-नई दिल्ली कालका एक्सप्रेस दुर्घटना में 69 लोग मारे गए थे और दर्जनों घायल हुए थे.

संबंधित समाचार