अमरीका-पाक ने की कड़ी निंदा

मुंबई धमाका इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका और पाकिस्तान ने भारत के मुंबई शहर में 13 जुलाई की शाम को हुए तीन बम धमाकों की कड़ी निंदा की है.

बुधवार शाम को हुए इन धमाकों में कम से कम 15 लोग मारे गए हैं और 110 घायल हो गए हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की ओर से व्हाइ़ट हाउस प्रवक्ता जे कार्नी ने कहा कि अमरीकी राष्ट्रपति ने बुधवार को हुए धमाकों की निंदी की है और ऐसे कारनामों का अंजाम देने वालों को सज़ा दिलाने के लिए मदद की पेशकश की है.

ओबामा ने कहा - "ये निंदनीय आतंकवादी कार्रवाई है. मैं उन लोगों के लिए प्रार्थना कर रहा हूँ जो घायल हुए हैं और जिन्होंने अपने रिश्तेदारों को खो दिया है. अमरीकी प्रशासन की स्थिति पर नज़र है. अमरीकी नागरिकों की सुरक्षा पर भी नज़र है. हम दोषियों को सज़ा दिलाने में भारत के सभी प्रयासों का समर्थन करेंगे...मैं भारत के लोगों की शक्ति और परिस्थितयों से उभरने की क्षमता देख चुका हूँ और वे इससे भी उभरेंगे."

अमरीकी राष्ट्रपति का कहना था कि भारत अमरीका का क़रीबी मित्र और सहयोगी है और अमरीकी लोग इस कठिन समय में भारतीय लोगों के साथ खड़े नज़र आएँगे.

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ़ अली ज़रदारी और प्रधानमंत्री सईद यूसुफ़ रज़ा गिलानी की और से जारी बयान में कहा गया है कि 'पाकिस्तान की सरकार और उसके लोग मुंबई में हुए धमाकों की कड़ी निंदा करते हैं.'

बयान में मुंबई में हुए जान-माल के नुक़सान पर गहरा अफ़सोस व्यक्त किया गया है.

पाकिस्तान के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने भारतीय राजनीतिक नेतृत्व से सहानुभूति भी व्यक्त की है.

संबंधित समाचार