'किसी एक गुट पर अभी संदेह नहीं'

  • 14 जुलाई 2011
इमेज कॉपीरइट ap

महाराष्ट्र में आतंकवाद निरोध दस्ते (एटीएस) के प्रमुख राकेश मारिया ने कहा है कि बुधवार को हुए मुंबई बम धमाकों से जुड़े हर पहलू की जाँच की जा रही है और अभी किसी एक गुट का नाम लेना ठीक नहीं होगा.

मुंबई में हुई पत्रकारवार्ता में राकेश मारिया ने कहा कि पड़ताल के लिए विभिन्न जाँच दल बनाए गए हैं. जिनमें केंद्रीय एजेंसियाँ भी सहयोग दे रही हैं.

मुंबई में बुधवार शाम को तीन जगहों- ज़ावेरी बाज़ार, ओपरा हाउस और दादर इलाक़े में धमाके हुए थे जिसमें 17 लोगों की जान जा चुकी है जबकि 133 लोग घायल हैं.

एटीएस प्रमुख ने कहा है कि जिन तीन जगहों पर धमाके हुए थे, वहाँ से सीसीटीवी फ़ुटेज मिल गया और इसका अध्ययन किया जा रहा है..

उनका कहना था, “फॉरेंसिक विशेषज्ञ जाँच में लगे हैं, उन्हें थोड़ा वक़्त चाहिए होगा. बारिश के कारण पूरी जानकारी मिलने में समय लग सकता है. लेकिन एक बात पर सब सहमत हैं कि विस्फोटकों में अमोनियम नाइट्रेट इस्तेमाल किया गया है. अभी किसी गुट का नाम नहीं लिया जा सकता. जैसे-जैसे जाँच आगे बढ़ेगी वैसे-वैसे तस्वीर साफ़ होती जाएगी.”

दोषियों को पकड़ लिया जाएगा

जब पत्रकारों ने पूछा कि क्या ये आत्मघाती हमला हो सकता है तो एटीएस प्रमुख ने कहा कि किसी भी आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता.

जानकारी जुटाने के लिए जाँचदल ने प्रत्यक्षदर्शियों और घायलों से मुलाक़ात की है और घटनास्थल से सैंपल भी इकट्ठा किए हैं.

महाराष्ट्र एटीएस प्रमुख ने बार-बार कहा कि लोग पुलिस पर भरोसा रखें और हमलों के लिए दोषी व्यक्तियों को पकड़ लिया जाएगा.

इससे पहले केंद्र सरकार ने कहा था कि आत्मघाती हमले की संभावना से इनकार नहीं किया है.

वहीं गृहमंत्री कह चुके हैं कि हमलों के बारे में राज्य सरकार और केंद्र सरकार के पास कोई ख़ुफ़िया सूचना नहीं थी. लेकिन उन्होंने इसे ख़ुफ़िया तंत्र की विफलता मानने से इनकार किया है.

हमलों में घायल हुए लोगों में से उनके अनुसार घायलों में 82 की हालत स्थिर है और 23 लोग गंभीर रुप से घायल हैं.

संबंधित समाचार