मुंबई मामले में सुराग नहीं

इमेज कॉपीरइट ap
Image caption मुंबई में हुए धमाकों में 19 लोग मारे गए थे.

मुंबई बम धमाकों के जांचकर्ताओं ने एक संदिग्ध आदमी का स्केच तैयार किया है जिसकी उन्हें तलाश है.

पिछले हफ्ते हुए इन धमाकों में पुलिस को अब तक कोई ख़ास सुराग नहीं मिला है.

उधर मुंबई पुलिस ने बम धमाकों के सिलसिले में पूछताछ के दौरान हिरासत में लिए गए फ़ैयाज़ उस्मानी की मौत की छान बीन भी शुरू कर दी है.

आतंक विरोधी दस्ते एटीएस को, जो मुंबई में हुए बम धमाकों की जांच कर रहा है, अब तक कोई सुराग नहीं मिला है. कई लोगों से पूछताछ ज़रूर चल रही है लेकिन इसका अब तक कोई सकारात्मक नतीजा नहीं निकला है.

एटीएस के एक अधिकारी के अनुसार हर लीड पर काम किया जा रहा है. पुलिस ने जिस व्यक्ति का स्केच जारी किया है वो केवल पुलिस विभाग के लोगों को ही दिया जा रहा है.

बम धमाकों के इलाकों के पास लगे सीसीटीवी के फुटेज को देखने का काम अब भी जारी है. पुलिस को उम्मीद है की शायद इससे जांच में कोई मदद मिले.

उधर मुंबई पुलिस की हिरासत में हुई मौत से बम विस्फोट की जांच ने एक नया मोड़ ले लिया है. रविवार की सुबह पुलिस अधिकारी फ़याज़ उस्मानी नाम के एक व्यक्ति से पूछ ताछ कर रहे थे जिसके बाद उसने सीने और पेट में दर्द की शिकायत की. अस्पताल में भरती करने के फ़ौरन बाद उसकी मौत हो गई.

उसके रिश्ते दार कहते हैं पुलिस ने उस्मानी को टार्चर किया है जिसके कारण उस्मानी की मौत हुई. पुलिस इस इलज़ाम को ग़लत बताती है.

लेकिन पुलिस के एक प्रवक्ता निसार तम्बोली के अनुसार यह इलज़ाम ग़लत है.

तम्बोली ने कहा, 'फ़याज़ उस्मानी के घर वालों दुआरा लगाए गए इलज़ाम सरासर ग़लत हैं.'

तम्बोली का कहना था की खुद उनके घर वालों ने बताया की फैया़ज़ ब्लड प्रेशर के मरीज़ थे और तीन चार दिनों से दवाई नहीं ली थी. जेजे अस्पताल में पोस्ट मार्टम के बाद जारी की गई एक रिपोर्ट के अनुसार उस्मानी की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई है. उस्मानी की मौत के बाद हुए हंगामे के कारण मुंबई पुलिस ने इस की जांच शुरू कर दी है.

डाक्टर के अनुसार उस्मानी की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई है.

पिछले हफ्ते मुंबई में पंद्रह मिनट के अन्दर तीन बम के धमाके हुए थे जिन में 19 लोगों की मृत्यु हो गयी थी जब की दर्जनों घायल हो गए थे.

संबंधित समाचार