छत्तीसगढ़ के कांग्रेस नेताओं पर माओवादी हमला

  • 20 जुलाई 2011
माओवादी इमेज कॉपीरइट BBC World Service

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से लगभग डेढ़ सौ किलोमीटर की दूरी पर संदिग्ध माओवादियों ने प्रदेश के वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के काफ़िले पर हमला किया है.

बताया जा रहा है कि माओवादियों ने विस्फोट करने के अलावा गोलियाँ भी चलाई हैं.

इसमें नेता तो बच गए हैं लेकिन काफ़िले में शामिल कई लोगों के हताहत होने की ख़बरें हैं.

इस काफ़िले में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नंदकुमार पटेल, विपक्ष के नेता रविंद्र चौबे, कम से कम दो पूर्व मंत्री सत्यनारायण शर्मा और अमितेश शुक्ला थे.

इसके अलावा एक विधायक कुलदीप जुनेजा और कांग्रेस कमेटी और युवक कांग्रेस के कई पदाधिकारी भी इस काफ़िले में थे.

प्रदेश में कांग्रेस नेताओं के काफ़िले पर इस तरह का हमला पहली बार हुआ है.

छत्तीसगढ़ में माओवादियों के प्रभाव वाले इलाक़े बस्तर के बाहर हाल के दिनों में ये पहला बड़ा हमला है.

विस्फोट

ये नेता देवभोग के पास धूर्वा गुड़ी में एक किसान रैली से लौट रहे थे.

शाम साढ़े पाँच बजे उदंती अभयारण्य में एक पुलिया में विस्फोट किया गया.

इस काफ़िले में शामिल कुलदीप जुनेजा ने बीबीसी को बताया कि काफ़िले की सारी गाड़ियाँ पुलिया को पार कर चुकी थीं लेकिन एक गाड़ी बची हुई थी.

उनका कहना है कि विस्फोट में आख़िरी गाड़ी उड़ गई.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नंदकुमार पटेल ने बीबीसी को बताया कि इस गाड़ी में सवार कई लोगों के मारे जाने की आशंका है.

उनका कहना है कि एक शव गाड़ी के पास दिखाई दे रहा है लेकिन फ़िलहाल उस वाहन के पास पुलिस नहीं पहुँची है और उसके बिना कुछ कहना मुश्किल है.

अभी तक यह भी नहीं पता चल पाया है कि विस्फोट की चपेट में जो वाहन आया है उसमे कितने लोग सवार थे. लेकिन कहा जा रहा है कि हताहतों की संख्या और अधिक हो सकती है.

फ़िलहाल पटेल सहित सभी नेता मैनपुर थाने में हैं.

संबंधित समाचार