बलात्कार के मामले के बाद तनाव

भारत प्रशासित कश्मीर में एक महिला के साथ कथित बलात्कार के मामले के बाद इलाक़े में तनाव पैदा हो गया है.

गुरुवार को भारत प्रशासित कश्मीर के दक्षिणी इलाक़े कोलगाम में एक महिला ने आरोप लगाया था कि सेना के दो जवानों ने उसे अग़वा कर दो दिन तक उसके साथ बलात्कार किया.

महिला का कहना है कि सेना के जवानों के पास वायरलेस सेट थे और उनकी बोली स्थानीय नहीं थी.

महिला के इस बयान के बाद मामला दर्ज कर लिया गया है और पुलिस और सेना की एक संयुक्त टीम को मामले की जांच की ज़िम्मेदारी सौंपी गई है.

विरोध प्रदर्शन

लेकिन इस मामले को लेकर जहां विपक्ष की नेता महबूबा मुफ़्ती कोलगाम में धरने पर बैठ गई हैं वहीं स्थानीय लोगों ने भी शुक्रवार को विरोध प्रदर्शन किए.

शुक्रवार की नमाज़ के बाद विरोध प्रदर्शनों में तेज़ी आने की उम्मीद है और पुलिस ने सुरक्षा इंतज़ाम कड़े कर दिए हैं.

इस बीच अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी ने शनिवार को इस मामले को लेकर इलाक़े में हड़ताल की घोषणा की है.

इस बीच सेना के वरिष्ठ अधिकारियों की ओर से की गई एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा गया है कि इस बात की अभी पुष्टि नहीं हो पाई है कि जिन दो लोगों पर आरोप लगाए गए हैं वो सेना का हिस्सा हैं या नहीं.

अधिकारियों ने कहा कि अगर जांच में सेना के जवानों के शामिल होने और दोषी होने की बात सामने आती है तो उनके ख़िलाफ़ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

संबंधित समाचार