शुभकामनाएँ लाई हूँ - हिना रब्बानी

  • 26 जुलाई 2011
हिना रब्बानी खर इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption दिल्ली में वायुसेना के हवाई अड्डे पर पाकिस्तानी विदेश मंत्री हिना रब्बानी खर

भारत की यात्रा पर पहुँचीं पाकिस्तानी विदेशमंत्री हिना रब्बानी खर ने कहा है कि वे पाकिस्तानी सरकार और पाकिस्तानी जनता की ओर से शुभकामनाएँ लेकर दिल्ली आई हैं.

मंगलवार को दिल्ली पहुँचने के बाद उन्होंने कहा,"पाकिस्तान के विदेश मंत्री के रूप में भारत और दिल्ली की ये मेरी पहली यात्रा है.मैं पाकिस्तान की जनता और पाकिस्तान सरकार की ओर से शुभकामनाएं लेकर आई हूँ."

खर बुधवार को विदेश मंत्री एस.एम. कृष्णा के साथ व्यापक बातचीत में हिस्सा लेंगी.

मंगलवार को दिल्ली में भारतीय विदेश सचिव निरूपमा राव और पाकिस्तानी विदेश सचिव सलमान बशीर ने शिष्टमंडल स्तर की बातचीत में बुधवार को दोनों मंत्रियों के बीच होनेवाली बातचीत के एजंडे को अंतिम रूप दिया.

34 वर्षीय खर पाकिस्तान की पहली महिला एवं सबसे युवा विदेश मंत्री हैं.

हवाई अड्डे पर पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त शरत सभरवाल और विदेश मंत्रालय में पाकिस्तान मामले के प्रभारी, संयुक्त सचिव वाई के सिन्हा ने गर्मजोशी के साथ खर का स्वागत किया.

इस मौक़े पर भारत में पाकिस्तानी उच्चायुक्त शाहिद मलिक और उच्चायोग के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे.

मित्रवत पड़ोसी

पाकिस्तानी विदेशमंत्री ने आशा ज़ाहिर की कि दोनों देश अच्छे मित्रवत पड़ोसी के रूप में आगे बढ़ सकते हैं.

खर ने कहा,"दोनों देशों ने इतिहास से बहुत कुछ सीखा है.मुझे आशा है कि हम अच्छे, मित्रवत पड़ोसी के रूप में आगे बढ़ सकते हैं.एक-दूसरे के भविष्य में हमारी हिस्सेदारी है और दोनों देश क्षेत्र के प्रति और क्षेत्र के अंदर अपनी जिम्मेदारियों को महसूस करते हैं." दिल्ली रवाना होने से पहले लाहौर के हवाई अड्डे पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान भी उन्होंने इसी तरह की बातें कहीं.

हिना रब्बानी ने कहा कि दोनों देशों को इतिहास से सीखना ज़रूर चाहिए लेकिन उसके बोझ तले दबना नहीं चाहिेए.

कश्मीरी नेता

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption भारतीय विदेश सचिव निरूपमा राव और पाकिस्तानी विदेश सचिव सलमान बशीर

भारत पहुंचने के बाद बुधवार शाम को ही विदेश मंत्री हिना रब्बानी ने पाकिस्तान दूतावास में कश्मीरी अलगाववादी संगठन हुर्रियत कांफ़्रेंस के नेताओं से मुलाक़ात की जिनमें हुर्रियत कांफ़्रेंस के मीरवायज़ उमर फ़ारूक़, सैयद अली शाह गिलानी, शब्बीर शाह शामिल थे.

मुलाक़ात के बाद पत्रकारों से बात करते हुए सैयद अली शाह गिलानी ने कहा कि उन्होंने पाकिस्तानी विदेश मंत्री को कश्मीर की मौजूदा हालात से अवगत कराया है

गिलानी ने कहा कि पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने उन्हें विश्वास दिलाया है कि पाकिस्तान कभी भी कश्मीरियों का साथ नहीं छोड़ेगा.

इससे पहले हिना रब्बानी ने सोमवार को लाहौर में जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के नेता यासीन मलिक से भी मुलाकात की थी.

इस दौरान उन्होंने कहा था,"पाकिस्तान मानता है कि कश्मीर समस्या का समाधान, कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के आलोक में कश्मीरियों की इच्छा के अनुरूप हो."

पाकिस्तानी विदेशमंत्री ने कहा कि पाकिस्तान चाहता है कि कश्मीर के मसले को हल करने के लिए और बातचीत को और ज्यादा अर्थपूर्ण बनाने के लिए कश्मीरी नेतृत्व को भी इसका हिस्सा बनाया जाए.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार