गौड़ा ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली

  • 4 अगस्त 2011
सदानंद गौड़ा इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption सदानंद गौड़ा इस समय संसद के सदस्य हैं

देवड़ागुंडा वेंकप्पा सदानंद गौड़ा ने गुरुवार को कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री के रुप में शपथ ले ली है.

लोकायुक्त की रिपोर्ट में अवैध खनन के मामले में भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद गत तीन अगस्त को बीएस येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया था.

इसके बाद भाजपा विधायक दल में एक गोपनीय मतदान के ज़रिए येदियुरप्पा की पसंद के सदानंद गौड़ा को विधायक दल का नेता चुना गया था.

राज्यपाल हंसराज भारद्वाज ने 58 वर्षीय गौड़ा पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई.

कठपुतली न बनने की सलाह

सदानंद गौड़ा कर्नाटक के 26 वें मुख्यमंत्री हैं और वे दक्षिण भारत में पहली भाजपा सरकार के दूसरे मुख्यमंत्री हैं.

उनका कार्यकाल 22 महीने का होगा क्योंकि राज्य में चुनाव मई, 2013 को होने हैं.

शपथ लेने से पहले गौड़ा ने येदियुरप्पा के निवास पर जाकर उनसे मुलाक़ात की फिर जगदीश शेट्टर से जिन्हें परास्त करके वे विधायक दल के नेता बने हैं.

शेट्टर गुट के नेताओं का कहना है कि उन्होंने गौड़ा से कहा है कि वे येदियुरप्पा की छाया में रहकर काम न करें.

शेट्टर समर्थक एक विधायक अरविंद लिंबावली ने कहा, "हमने उनसे अपील की है कि वे कठपुतली की तरह काम न करें."

ख़बरें हैं कि शपथ ग्रहण समारोह में भी पार्टी के भीतर के विवाद का साया रहा.

विश्लेषक मानते हैं कि मुख्यमंत्री के सामने एक चुनौती आने वाले दिनों में येदियुरप्पा के ख़िलाफ़ होने वाली क़ानूनी कार्रवाइयाँ होंगी और दूसरी राज्यपाल भारद्वाज से तालमेल बिठाने की.

लेकिन इससे बड़ी चुनौती पार्टी में एका क़ायम करना होगा.

संबंधित समाचार