लाखों बैंक कर्मचारी हड़ताल पर

बैंक कर्मियों की हड़ताल (फ़ाइल फ़ोटो) इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption हड़ताल से बैंकों में लेन-देन भी बड़े पैमाने पर प्रभावित होने की आशंका है

देश भर में सरकारी और कुछ निजी बैंकों के लाखों कर्मचारी केंद्र सरकार के प्रस्तावित बैंकिंग सुधारों के ख़िलाफ़ शुक्रवार को हड़ताल कर रहे हैं.

बैंक कर्मचारियों के भिन्न संगठनों और केंद्र सरकार के बीच सोमवार और मंगलवार को हुई वार्ताएं असफल रहने के बाद कर्मचारी संगठनों ने शुक्रवार को हड़ताल पर जाने की घोषणा की थी.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार बैंक कर्मचारियों के संगठन यूनाईटेड फोरम ऑफ़ बैंक यूनियंस के संयोजक सी एच वेंकटचलम का कहना है कि यह हड़ताल 21 मांगों को लेकर की जा रही है.

उनके अनुसार इन मांगों में सरकारी बैंकों में विनिवेश, विलय और अधिग्रहण नीतियों तथा बैंकिंग उद्योग में सामान्य कामों की आउटसोर्सिंग के खिलाफ़ हो रही है.

ऑल इंडिया बैंक कर्मचारी संगठन के महासचिव विश्वास उतागी ने कहा है, " देश भर में क़रीब 10 लाख कर्मचारी आज हड़ताल पर रहेगें और इस हड़ताल का सीधा असर देश भर में महसूस किया जा सकेगा."

उतागी ने यह भी कहा कि बैंक कर्मचारियों की चिंताएं संसद के वर्तमान सत्र में उठाई जाएंगी.

समाचार एजेंसियों के अनुसार निजी क्षेत्र के बड़े बैंक एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफ़सी बैंक, यस बैंक, और कोटक महिन्द्रा बैंक के कर्मचारी इन हड़तालों में शामिल नहीं होंगे क्योकि इन बैंकों में कर्मचारी संगठन नहीं हैं.

संबंधित समाचार