स्वतंत्रता दिवस पर व्यापक सुरक्षा प्रबंध

स्वतंत्रता दिवस की तैयारी (फ़ाइल फ़ोटो)

भारत के स्वतंत्रता दिवस के मौक़े पर राजधानी दिल्ली और अनेक अन्य शहरों में सुरक्षा के व्यापक इंतज़ाम किए गए हैं. दिल्ली में हाई एलर्ट है जबकि गृह मंत्रालय ने ताज़ा सुरक्षा एलर्ट जारी किया है.

विशेष तौर पर दिल्ली, बंगलौर, चेन्नई, कोलकाता और मुंबई में पुलिस को अत्यधिक सतर्कता बरतने का आदेश दिया गया है. दिल्ली में पुलिस और अर्धसैनिक बलों के जवानों को जगह-जगह पर तैनात किया गया है और रेलवे स्टोशनों, हवाई अड्डों और संवेदनशील स्थानों पर नज़र रखी जा रही है.

Image caption लालकिले के आसपास 40 सीसीटीवी कैमरा लगाए गए हैं

भारतीय प्रशासित जम्मू-कश्मीर में हुर्रियत कॉन्फ़्रेंस के नेता मीरवाइज़ उमर फ़ारूक़ ने सोमवार के दिन आम हड़ताल का आहवान किया है. मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला अलगाववादियों को सभी मुद्दों के शांतिपूर्ण तरीके से खोजने की प्रक्रिया में भाग लेने की सलाह दी है.

'नो फ़्लाई ज़ोन'

भारत की राजधानी दिल्ली में हज़ारों सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है. इनके साथ हेलिकॉप्टर और विमान भी आसमान में गश्त लगाएँगे.

समाचार एजेंसियों ने एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के हवाले से बताया है कि विशेष तौर पर लालकिले के आसपास चौकसी बरती जा रही है जहाँ से सोमवार तड़के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सोमवार को राष्ट्र को संबोधित करेंगे.

उस इलाक़े में एनएसजी कमांडो के साथ-साथ इमारतों पर अनेक सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया है और पूरे इलाक़े में लगभग 40 सीसीटीवी कैमरा लगाए गए हैं.

लालकिले के आसपास के मोहल्लों में प्रशिक्षित कमांडो लगाए गए हैं और दिल्ली की सीमा पर भी वाहनों को रोक कर तालाशी ली जा रही है.

गेस्ट हाउस के मालिकों और होटलों के प्रबंधकों के साथ-साथ एसटीडी बूथ वालों को आदेश दिया गया है कि सभी स्थानीय और विदेशी फ़ोन कॉल्स का ब्योरा लिखित में तैयार किया जाए.

जब लालकिले पर स्वतंत्रता दिवस समारोह चल रहा होगा तब 90 मिनट के लिए लालकिले और आसपास की वायुसीमा 'नो फ़्लाई ज़ोन' रहेगी यानी वहाँ कोई विमान उड़ान नहीं भर सकेगा.

पुलिस ने सड़क यात्रा के लिए लालकिले के आसपास के इलाक़े में निजी वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा दी है और केवल पर्मिट वाली गाड़ियों को ही वहाँ से गुज़रने दिया जाएगा.

वोहरा, उमर ने कहा अलगाववादी आगे आएँ

केंद्र द्वारा जारी सुरक्षा एलर्ट के बाद कश्मीर घाटी में स्वतंत्रता दिवस के मौक़े पर श्रीनगर के बक़्शी स्टेडियम के आसपास कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं.

हुर्रियत कॉन्फ़्रेस के मीरवायज़ उमर फ़ारूक के नेतृत्व वाले गुट ने सोमवार को आम हड़ताल का आहवान किया है.

संगठन के एक बयान में कहा गया है - "ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि जहाँ भारत अपना स्वतंत्रता दिवस मना रहा है वहीं कश्मीर की पूरी जनता इस सुरक्षा इंतज़ाम की बंदी बनी हुई है."

उधर जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा है , "उपमहाद्वीप में बदले हुए हालात में आप (अलगाववादी) सकारात्मक भूमिका निभाएँ और शांतिपूर्ण तरीके से मुद्दों को सुलझाने की प्रक्रिया का हिस्सा बनें. भारत-पाक वार्ता दोबारा शुरु हुई है और राज्य के अंदर भी बातचीत को आगे बढ़ाने का प्रयास है."

दूसरी ओर भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर के गवर्नर एनएन वोहरा ने कहा है कि समय आ गया है कि अलगाववादी कश्मीर मुद्दे के शांतिपूर्ण हल के लिए बातचीत के लिए आगे आएँ.

संबंधित समाचार