प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

प्रधानमंत्री भाषण पर एमजे अक़बर

  • 15 अगस्त 2011

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने लाल किले से अपने भाषण में कई मुद्दों का ज़िक्र किया, लेकिन सवाल ये कि क्या लाल किले से भाषण देना मात्र एक परंपरा ही रह गई है? क्या इन भाषणों का स्तर गिरता नहीं जा रहा?

पहले जहाँ लाल किले की प्राचीर से दिए गए भाषणों को ध्यान से सुना जाता था, और वो एक तरह से नीतिगत बयान हुआ करते थे, क्या आज के भाषण के बारे में भी यहा कहा जा सकता है?

बीबीसी संवाददाता विनीत खरे ने वरिष्ठ पत्रकार एमजे अक़बर से बात की.