अन्ना हज़ारे को पुलिस ने हिरासत में लिया

  • 16 अगस्त 2011
अन्ना गिरफ़्तार इमेज कॉपीरइट AFP

पुलिस ने सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हज़ारे को हिरासत में ले लिया है.

अन्ना हज़ारे मंगलवार से लोकपाल क़ानून के मसौदे में कुछ प्रावधानों को शामिल किए जाने को लेकर आमरण अनशन शुरू करनेवाले थे.

दिल्ली पुलिस ने उन्हें पूर्वी दिल्ली से हिरासत में लिया है जहां वो ठहरे हुए थे.

पुलिस ने अन्ना के समर्थकों, अरविंद केजरीवाल और मनीश सिसोदिया को भी हिरासत में लिया है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने टीवी चैनल एनडीटीवी के हवाले से कहा कि हिरासत में लिए जाने के पहले अरविंद केजरीवाल ने चैनेल को फ़ोन करके इतना बताया कि उन लोगों हिरासत में लिया जा रहा है.

'हमें आदेश है'

हालांकि अभी ये साफ़ नहीं है कि उन लोगों को कहां ले जाया गया है या उन्हें किस आधार पर हिरासत में लिया गया है.

अन्ना हज़ारे के साथ एक 'मज़बूत लोकपाल क़ानून' के लिए संघर्ष कर रही और पूर्व पुलिस अधिकारी किरण बेदी ने कहा कि जब अन्ना हज़ारे ने पुलिस से पूछा कि उनका जुर्म क्या है तो पुलिस ने कहा कि "हमें आदेश है."

किरण बेदी ने आरोप लगाया कि ये कांग्रेस पार्टी के कहने पर हो रहा है. उनका कहना था कि दिल्ली पुलिस हमेशा से धरनों और आंदोलनो को व्यवस्थित करती आई है इसलिए वो ख़ुद से ऐसा कोई क़दम नहीं उठाएगी.

मंगलवार को शुरू होनेवाले अनशन के मद्देनज़र अन्ना हज़ारे के हज़ारों समर्थक दिल्ली में जमा हो गए थे और कुछ चैनलों का कहना है कि पुलिस को डर था कि इतनी बड़ी भीड़ से क़ानून-व्यवस्था का ख़तरा पैदा हो सकता है.

मशहूर वकील और लोकपाल क़ानून मसौदे समीति के सदस्य प्रशांत भूषण ने कहा है कि वो अन्ना हज़ारे के हिरासत के विरोध में अदालत जाएंगे.

प्रशांत भूषण ने कहा कि गिरफ़्तारी के ख़िलाफ़ सारे देश में प्रदर्शन होगा.

उन्होंने कहा कि अन्ना हज़ारे के समर्थक प्लान के मुताबिक़ जेपी पार्क और राजघाट में जमा होंगे.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए