कश्मीर में 12 चरमपंथी मारे गए

सेना
Image caption अधिकारियों का कहना है कि पहली बार घुसपैठिए नदी के रास्ते से आ रहे थे

सेना के अधिकारियों के अनुसार भारत प्रशासित कश्मीर के गुरेज़ सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास हुई गोलीबारी में सीमापार से घुसपैठ करते 12 चरमपंथी मारे गए हैं.

सेना के प्रवक्ता लेफ़्टिनेंट कर्नल जेएस बरार के अनुसार इस गोलीबारी में सेना के एक युवा अधिकारी की भी मौत हुई है और दो सैनिक घायल हुए हैं.

सेना ने अभी इन चरमपंथियों की पहचान के बारे में कुछ नहीं कहा है.

सेना के अधिकारियों का कहना है कि सीमापार से इस महीने ये घुसपैठ की आठवीं कोशिश है और इस साल की सबसे बड़ी कोशिश है.

नाव से आ रहे थे

बीबीसी के संवाददाता रियाज़ मसरूर के अनुसार शनिवार की तड़के क़रीब एक बजे ख़ुफ़िया सूचनाओं के बाद किशनगंगा नदी पर दो नावों से आ रहे चरमपंथियों को रोकने की कोशिश की गई.

सेना के प्रवक्ता का कहना है कि बांदीपुरा ज़िले में चरमपंथियों की ओर से गोली चलने के बाद सेना ने जवाबी कार्रवाई की और गोलीबारी में दोनों नावों में सवार छह चरमपंथी मारे गए.

सेना का कहना है कि छह की मौत नदी में डूबने से हुई.

अधिकारियों का कहना है कि दो नावों के अलावा पाँच एके-47, एक पिस्तौल, 50 हथगोले, दो रेडियो सेट और एक जीपीएस सिस्टम बरामद हुआ है.

प्रवक्ता के अनुसार इस गोलीबारी में मारे गए अधिकारी नवदीप सिंह की उम्र 26 वर्ष थी. वे पिछले साल ही सेना में भर्ती हुए थे.

उनका कहना है कि ये पहली बार है जब चरमपंथी नदी के रास्ते से घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे.

संबंधित समाचार