लोकपाल पर व्यापक विचार-विमर्श

  • 23 अगस्त 2011
अन्ना हज़ारे इमेज कॉपीरइट Reuters

लोकपाल विधेयक पर अन्ना हज़ारे की टीम और केंद्र सरकार के बीच गतिरोध जारी है. इस बीच केंद्र सरकार ने राजनीतिक सहमति के लिए बुधवार को एक सर्वदलीय बैठक बुलाई है.

ये बैठक बुधवार को साढ़े तीन बजे शाम को होगी. जानकारों का कहना है कि केंद्र सरकार अन्ना हज़ारे टीम की ओर से पेश की कई कुछ मांगों पर राजनीतिक आम राय बनाना चाहती है.

दूसरी ओर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने लोकपाल पर संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष अभिषेक मनु सिंघवी से मुलाक़ात की है.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि दोनों नेताओं ने लोकपाल के मुद्दे पर विस्तार से चर्चा की है. सोमवार को अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा था कि समिति लोकपाल पर हर तरह के विचारों का स्वागत करती है ताकि एक मज़बूत लोकपाल विधेयक संसद में रखा जा सके.

वहीं अन्ना हज़ारे के सहयोगी स्वामी अग्निवेश ने पत्रकारों को बताया कि उन्हें जल्द ही रास्ता निकलने की उम्मीद है.

उन्होंने बताया, "केन्द्रीय मंत्रियों ने मुझे संपर्क कर ये बताया है कि वो प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से बातचीत करने वाले हैं, मुझे उम्मीद है कि वो जनलोकपाल विधेयक को औपचारिक रूप से संसद में पेश करेंगे."

भरोसा

कांग्रेस के सांसद प्रवीण सिंह ऐरन ने स्थायी समिति के सामने अन्ना हज़ारे की टीम के लोकपाल विधेयक को रखा है.इस बीच सरकारी लोकपाल विधेयक के विरोध में अन्ना हज़ारे का अनशन आठवें दिन में प्रवेश कर चुका है. अन्ना के स्वास्थ्य को लेकर चिंताएँ व्यक्त की जा रही हैं.

लेकिन अन्ना हज़ारे ने भरोसा दिलाया है कि वे अब भी ठीक हैं और डॉक्टरों की टीम उन पर नज़र रखे हुए हैं.

सरकार ने लोकपाल विधेयक को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शनों के मद्देनज़र कई मोर्चे पर व्यापर विचार-विमर्श का दौर शुरू किया है.

वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने केंद्रीय मंत्रियों शरद पवार और विलासराव देशमुख से मुलाक़ात की है. दोनों मंत्री महाराष्ट्र से हैं, जो अन्ना हज़ारे का भी राज्य है.

विलासराव देशमुख के महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए अन्ना हज़ारे ने कई बार अनशन किया है. महाराष्ट्र के अतिरिक्त मुख्य सचिव यूसी सारंगी भी अन्ना हज़ारे के साथ तीन दौर की बातचीत कर चुके हैं.

मुलाक़ात

पिछले दिनों आध्यात्मिक गुरु भैय्यूजी महाराज ने भी अन्ना हज़ारे से मुलाक़ात की थी. भैय्यूजी महाराज को विलासराव देशमुख का क़रीबी माना जाता है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मनमोहन सिंह ने अभिषेक मनु सिंघवी से मुलाक़ात की है

समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि प्रणब मुखर्जी की शरद पवार और विलासराव देशमुख के साथ मुलाक़ात में अन्ना हज़ारे के अनशन को लेकर चल रहे गतिरोध को ख़त्म कराने के मुद्दे पर बातचीत हुई.

उधर अन्ना हज़ारे की टीम के एक प्रमुख सदस्य अरविंद केजरीवाल का कहना है कि सरकार को आधिकारिक रूप से बातचीत के लिए किसी को नियुक्त करना चाहिए.

केजरीवाल ने कहा, "अपना मामला स्थायी समिति के पास ले जाने को कहने की बजाए इस मामले का राजनीतिक समाधान होना चाहिए. ये कोई रास्ता नहीं है."

उन्होंने कहा कि आधिकारिक रूप से अब भी उन लोगों के पास सरकार की ओर से कोई प्रस्ताव नहीं आया है. अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दो रास्ते हैं या तो सरकार मौजूदा लोकपाल विधेयक को वापस ले और जनलोकपाल विधेयक को पेश करे या मौजूदा विधेयक में संशोधन लाए.

उन्होंने इससे इनकार किया कि अन्ना हज़ारे ने इस पर ज़ोर दिया है कि वे केवल प्रधानमंत्री या कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी से बात करेंगे.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार