बेनतीजा ख़त्म हुई बैठक, सख़्त हुई सरकार

  • 24 अगस्त 2011
किरन बेदी, प्रशांत भूषण और अरविंद केजरीवाल इमेज कॉपीरइट PTI

लोकपाल बिल पर सिविल सोसाइटी के कार्यकर्ताओं और सरकार के बीच बातचीत बेनतीजा ख़त्म हुई है. बैठक के बाद सिविल सोसाइटी के नुमाइंदे प्रशांत भूषण ने कहा है कि बुधवार को सरकार के रवैया काफ़ी बदला हुआ नज़र आया.

उन्होंने कहा कि मंगलवार को सकारात्मक बातचीत होने के बाद बुधवार को स्थिति फिर पहले जैसी ही हो गई है.

उधर प्रणब मुखर्जी ने बैठक के बाद पत्रकारों को बताया कि उन्हें उम्मीद की संसदीय कार्यवाही को सुचारू रूप से चलने दिया जाएगा.

वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी और अन्ना हज़ारे के प्रतिनिधियों के बीच बुधवार को बातचीत का ये दूसरा दौर था. दोनो पक्ष लोकपाल बिल पर बने गतिरोध को सुलझाने का प्रयास कर रहे हैं.

गुरुवार को दोनों पक्ष एक बार फिर बैठक करेंगे.

नागरिक समाज जन लोकपाल बिल के पक्ष में है जबकि सरकार का एक लोकपाल बिल इस समय संसद की स्थाई समिति के सामने विचाराधीन है.

बदला-सा रवैया

प्रशांत भूषण ने कहा कि मंगलवार को हुई वार्ताओं में सरकार का रुख़ काफ़ी सकारात्मक था लेकिन बुधवार को सब कुछ बदला-बदला सा नज़र आया.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सरकार ने साफ़ कर दिया है कि वो जन लोकपाल बिल को पेश नहीं करेगी.

नागरिक समाज की प्रतिनिधि किरन बेदी ने प्रणब मुखर्जी के साथ बातचीत के बाद पत्रकारों को बताया, "ये एक दिन और रात में सरकारी रवैये में फ़र्क क्यों आया, मुझे नहीं मालूम. मंगलवार को वो हमारी बातें सुन रहे थे, आज वो अपनी बता सुना रहे थे. कल वो हमारी बातों की इज़्ज़त कर रहे थे. कल और आज में दिन-रात का फ़र्क आया है."

किरन बेदी ने कहा कि प्रणब मुखर्जी बुधवार को बैठक शुरू होते ही ग़ुस्से में दिखे और वो कह रहे थे कि जो आपको करना करते रहो.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सरकार से हुई बातचीत के बारे में अब वो लोग रामलीला मैदान पर अन्ना हज़ारे को बताएंगे और उसके बाद ही आगे बात की जा सकेगी.

किरन बेदी ने कहा कि अनशन जारी रखना अन्ना का निजी फ़ैसला है और वो आगे इसपर ख़ुद ही कोई निर्णय लेंगे.

इसके बाद रामलीला मैदान पर पहुंचकर अरविंद केजरीवाल ने बैठक के बारे में वहां मौजूद लोगों को अवगत करवाया. केजरीवाल ने भी दोहराया कि बुधवार की बैठक में सरकार रवैया काफ़ी बदला हुआ था.

अरविंद केजरीवाल ने कहा, "आज उन्होंने साफ़-साफ़ कहा कि वो जन लोकपाल बिल को संसद में पेश नहीं करेंगे. कल उन्होंने कहा था कि उन्हें जनलोकपाल बिल की तीन बातें पसंद नहीं है लेकिन आज उन्होंने पूरे के पूरे जन लोकपाल बिल को मानने से मना कर दिया और कहा कि इसे ससंद में पेश नहीं किया जाएगा."

केजरीवाल ने कहा कि उन्हें ख़बर मिली है कि बुधवार-गुरुवार की रात को पुलिस अन्ना हज़ारे को रामलीला मैदान से हटाने वाली है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार