प्रस्ताव तैयार, ध्वनिमत से मंज़ूरी ली जाएगी

अन्ना हज़ारे और उनकी टीम इमेज कॉपीरइट PTI

अन्ना हज़ारे के तीन मुद्दों पर संसद में बहस के बाद मतविभाजन न होने की सूचना से टीम अन्ना की नाराज़गी के बाद सरकार ने एक प्रस्ताव तैयार किया है.

इस प्रस्ताव पर टीम अन्ना के सदस्यों से सरकार ने चर्चा भी की है और वे इससे संतुष्ट हैं.

बताया जा रहा है कि इस प्रस्ताव पर ध्वनिमत से मतविभाजन करने का फ़ैसला हुआ है और टीम अन्ना इस फ़ैसले से भी सहमत हैं.

राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली ने इसकी पुष्टि की है कि सरकार की ओर से एक प्रस्ताव दोनों सदनों में रखा जाएगा और उस पर ध्वनिमत से मत विभाजन होगा.

इससे पहले टीम अन्ना के सदस्य इस ख़बर पर नाराज़ हो गए थे कि सदन के दोनों सदनों में हो रही चर्चा के अंत में मतविभाजन नहीं होगा.

सदस्य चाहते थे कि मतविभाजन हो ताकि सभी दलों और सदस्यों का रुख़ स्पष्ट हो सके.

नाराज़गी

इससे पहले टीम अन्ना ने इस बात पर अप्रसन्नता ज़ाहिर की थी कि इन मुद्दों पर मत विभाजन नहीं होने जा रहा है. उनका कहना था कि सरकार ने उनको धोखा दिया है.

केंद्रीय मंत्री सलमान ख़ुर्शीद से मुलाक़ात के बाद टीम अन्ना के सदस्य प्रशांत भूषण ने पत्रकारों से कहा था कि शुक्रवार की रात तक उन्हें ये संकेत दिए गए थे कि संसद में एक प्रस्ताव रखा जाएगा जिस पर मतविभाजन भी होगा लेकिन अब कहा जा रहा है कि इस पर कोई मतविभाजन नहीं होगा और ये सिर्फ़ एक चर्चा हो कर रह जाएगी.

कहा जा रहा है कि ये चर्चा धारा 193 के तहत हो रही है और इसमें वोटिंग का कोई प्रावधान नहीं है.

इसके बाद एक बार फिर बैठकों का दौर शुरु हुआ.

ख़बरें हैं कि टीम अन्ना की सरकार के सदस्यों से चर्चा हुई, सरकार ने विपक्ष के नेताओं से चर्चा की और इसके बाद एक प्रस्ताव का मसौदा तैयार किया गया.

इस मसौदे को अन्ना हज़ारे को भी दिखाया गया है.

बताया गया है कि इस मसौदे से टीम अन्ना के सदस्य संतुष्ट हैं.

अब इस प्रस्ताव को संसद के दोनों में रखा जाएगा और इस पर ध्वनिमत से सदनों की मंज़ूरी ले ली जाएगी.

अन्ना हज़ारे कह चुके हैं कि अगर इन तीन मुद्दों पर संसद की सहमति मिल जाती है तो अन्ना हज़ारे अपना अनशन ख़त्म करने पर विचार कर सकते हैं.

संबंधित समाचार