कलमाड़ी नहीं जा पाएंगे संसद

  • 30 अगस्त 2011
सुरेश कलमाड़ी इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सुरेश कलमाड़ी को संसद जाने की इजाज़त नहीं मिली.

दिल्ली उच्च न्यायालय ने कांग्रेस सासंद और कॉमनवेल्थ आयोजन समिति के पूर्व अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी की उस अपील को ख़ारिज कर दिया है जिसमें उन्होंने संसद के मॉनसून सत्र में शामिल होने की इजाज़त मांगी थी.

कलमाड़ी 2010 के खेल आयोजन में हुए कथित भ्रष्टाचार के मामले में दिल्ली के तिहाड़ जेल में क़ैद हैं.

न्यायाधीश दीपक मिश्रा और संजीव खन्ना की खंडपीठ ने कहा, "मामले की गंभीरता और लगाए गए आरोप के दायरे को देखते हुए, उन्हें अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर संसद जाने की इजाज़त देना अनुपयुक्त होगा, और वो भी महज़ इस नाम पर की उन्हें संसद में संवैधानिक कर्तव्यों का निर्वाह करना है."

दो जजों की खंडपीठ ने कहा कि उनके विचार में संसदीय कर्तव्यों को पूरा करने के नाम पर की गई अपील का कोई आधार नहीं है.

उच्च न्यायालय की एक जज की खंडपीठ ने कलमाड़ी के संसद की कार्यवाही में शामिल होने की अर्ज़ी को पहले ख़ारिज कर दिया था जिसके ख़िलाफ़ उन्होंने दो जजों की खंडपीठ का दरवाज़ा ख़खटाया था.

कलमाड़ी महाराष्ट्र के पुणे से लोकसभा सांसद हैं.

पहले दिए गए फ़ैसले में जज ने कलमाड़ी को मुक़दमेबाज़ी का ख़र्च देने का हुक्म सुनाया था और कहा था कि वो ये पैसा प्रधानमंत्री आकस्मिक निधि में जमा करवाएं.

मुख्य जांच एजेंसी सीबीआई ने मई में कलमाड़ी और 10 अन्य लोगों के विरूद्ध चार्जशीट दाखिल किया था.

उनके विरूद्ध एक विदेशी कंपनी को ऊंचे दरों पर खेल का ठेका देने का आरोप है.

संबंधित समाचार