चित्रकार जहाँगीर साबवाला का निधन

साठ सालों तक अपने चित्रों के ज़रिये दिलों पर राज करने वाले 89 वर्षीय प्रसिद्ध भारतीय चित्रकार जहाँगीर साबवाला का शुक्रवार को मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में निधन हो गया.

पिछले दो सालों से वो फेफड़ों के कैंसर से लड़ रहे थे.

1922 में मुंबई में पैदा हुए जहाँगीर साबवाला ने 1944 में जे जे स्कूल ऑफ आर्ट से फाइन आर्टस से डिप्लोमा हासिल किया और इसके बाद वह चित्रकला की दुनिया में महारथ हासिल करने के लिए लंदन और पेरिस गए.

1945 से 1947 तक लंदन के हीथ्रले स्कूल ऑफ फाइन आर्ट में जहाँगीर साबवाला अपनी चित्रकला में और निखार लाए.

इसके बाद तो उन्होंने भारत और विदेशों में 30 से ज़्यादा एकल प्रदर्शनी लगाईं.

2009 में न्यूयार्क की एकॉन गैलरी और 2008 में मुंबई की साक्षी गैलरी में भी जहाँगीर साबवाला की कलाकृतियों ने धूम मचा दी.

उनकी जीवन यात्रा पर अरूण खोपर ने एक फ़िल्म भी बनाई- 'कलर्स ऑफ एबसेंस' को1994 में इस फ़िल्म को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला.

1977 में भारत सरकार ने जहाँगीर साबवाला को पद्म श्री से सम्मानित किया. 2007 में उन्हें ललित कला रत्न से नवाज़ा गया.

संबंधित समाचार