सुरक्षा के घेरे में अन्ना

  • 4 सितंबर 2011
इमेज कॉपीरइट Getty

दिल्ली के रामलीला मैंदान पर अनशन कर वापस अपने गाँव रालेगण सिद्धि पहुँचे अन्ना हज़ारे को जेड श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गयी है.

हालांकि अन्ना ने जेड श्रेणी की सुरक्षा लेने से पहले कुछ शर्तें रखी थीं. उन्होंने कहा है कि उनके सुरक्षा में तैनात कमांडो बिना हथियार के रहेंगे और वो लगातार उनका पीछा नहीं करेंगे.

इससे पहले कहा जा रहा था कि अन्ना सुरक्षा नहीं लेना चाहते थे.

समाचार ऐजेंसियों ने इलाके के एसपी के हवाले से कहा है कि स्थानीय जिला पुलिस हजारे को तत्काल प्रभाव से यह सुरक्षा मुहैया करायेगी.

अन्‍ना की सुरक्षा में चार सशस्त्र सुरक्षाकर्मी और दो निजी सुरक्षा अधिकारी चौबीस घंटे उनकी सुरक्षा में तैनात रहेंगे.

जेड श्रेणी की सुरक्षा

जेड श्रेणी की सुरक्षा के तहत एक पुलिस वाहन के साथ दो सुरक्षा अधिकारी और चार हथियारबंद सुरक्षा गार्ड मुहैया कराए जाते हैं. अब ये सुरक्षाकर्मी गाँव मे या गाँव से बाहर जाने पर हमेशा अन्ना के साथ रहेंगे.

इसके पहले अन्ना की सुरक्षा में सादे कपड़ों में दो सशस्त्र पुलिसकर्मी तैनात रहा करते थे.

हाल ही में अन्ना के वकील ने उनकी सुरक्षा बढ़ाने को लेकर महाराष्‍ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्‍वीराज चव्हाण और गृहमंत्री आरआर पाटील को पत्र लिखा था.

पत्र में कहा गया था कि भ्रष्टाचार के खिलाफ अनशन के दौरान अन्ना और उनके सहयोगियों ने अपने भाषण में सरकार व कुछ लोगों के खिलाफ तीखी टिप्पणी की थी. इससे कुछ लोगों में अन्‍ना के प्रति आक्रोश है और उनकी जान को ख़तरा है.

इससे पहले, अन्ना भी ख़ुद ये कह चुके है कि उन्हें मारने के लिए कथित रूप से 30 लाख रुपये की सुपारी दी गई थी.

संबंधित समाचार