लगातार चौथे दिन नहीं चली संसद

  • 6 सितंबर 2011
संसद
Image caption दोनों सदनों में भाजपा ने गुजरात में लोकायुक्त की नियुक्ति का विरोध किया

गुजरात में लोकायुक्त की नियुक्ति का विरोध कर रही भारतीय जनता पार्टी ने लगातार चौथे दिन संसद की कार्रवाई नहीं चलने दी.

संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही मंगलवार को दिन भर के लिए स्थगित करनी पड़ी.

भाजपा की मांग है कि राज्यपाल कमला बेनीवाल को वापस बुलाया जाए.

इसी समय समाजवादी पार्टी ने विकीलीक्स के दस्तावेज़ों के आधार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए उत्तर प्रदेश की मायावती सरकार को बर्ख़ास्त करने की मांग को लेकर हंगामा किया.

छह हफ़्ते का मॉनसून सत्र अब अपने अंतिम दिनों की ओर बढ़ रहा है लेकिन सरकार और विपक्ष के बीच विवाद ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रहे हैं.

भाजपा को समर्थन

भाजपा को गुजरात के मुद्दे पर अन्य विपक्षी दलों के अलावा एनडीए में शामिल दलों का समर्थन मिल रहा है.

समाचार एजेंसी पीटीआई का कहना है कि राज्यसभा में इस मुद्दे पर वामपंथी दल और एआईएडीएमके का भी समर्थन मिल रहा है.

मंगलवार को लोकसभा और राज्यसभा दोनों में ही भाजपा के सदस्यों ने जमकर हंगामा किया.

राज्यसभा में तो दिन भर कोई कार्यवाही नहीं हो सकी.

अलबत्ता लोकसभा में 'उड़ीसा' का नाम 'ओडिशा' करने के लिए संविधान संशोधन विधेयक पारित किया गया.

लोकसभा में प्रश्नकाल न चलने के बाद जब फिर से बैठक शुरु हुई तो 12.20 बजे हंगामे के बीच पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई.

वहीं राज्यसभा में दो बार बैठक स्थगित करने के बाद आख़िर दो बजे दिन भर के लिए कार्यवाही स्थगित कर दी गई.

संबंधित समाचार