ट्रांज़िट रास्ते पर डर की कोई बात नहीं: मनमोहन

मनमोहन सिंह इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मनमोहन सिंह ने कहा कि आतंकवाद की चुनौती से सीधे भिड़ें दोनों देश.

बांग्लादेश के दो दिवसीय दौरे पर जाने से पहले मनमोहन सिंह ने कहा कि पूर्वोत्तर भारत के लिए रेल और सड़क मार्ग की भारतीय मांग पर बांग्लादेश को अधिक चिंता नहीं करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि भारत इस मुद्दे पर बांग्लादेश के किसी भी फ़ैसले का सम्मान करेगा.

साथ ही मनमोहन सिंह ने कहा है कि दोनों देशों को आतंकवाद की चुनौती से सीधे भिड़ना होगा.

इस बीच प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह बांग्लादेश पहुंच गए हैं. ढाका के हज़रत शाहजलाल हवाई अड्डे बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख़ हसीना ने उनका स्वागत किया.

इससे पहले दिल्ली में मनमोहन सिंह ने बांग्लादेश की राष्ट्रीय समाचार एजेंसी 'बांग्लादेश संवाद संस्था' यानि बीएसएस से एक बातचीत में कहा कि भारत ट्रांज़िट रास्ते के मुद्दे पर कोई जल्दबाज़ी नहीं करेगा.

बांग्लादेश की समाचार एजेंसी ने जब ये पूछा कि वो बांग्लादेश के कुछ हलकों में ट्रांज़िट सुविधाओं के प्रति भय को कैसे दूर करेंगे, मनमोहन सिंह ने कहा कि ये फ़ैसला बांग्लादेश को करना है और भारत इस मुद्दे पर ‘हर उस फ़ैसले का सम्मान करेगा जो बांग्लादेश लेगा .’

मनमोहन सिंह ने बीएसएस को बताया, “वैसे मैं यातायात और बुनियादी ढांचे में भारत के साथ जुड़ने के प्रति भयभीत होने की कोई वजह नहीं देखता. इस विषय पर दोनों देशों के फ़ायदे के लिए काफ़ी कुछ किया जा सकता है, जिसमें भूमिगत जलमार्ग भी शामिल हैं.”

भारत ने अपने पूर्वोत्तर हिस्से से जुड़ने के लिए बांग्लादेश के रास्ते सड़क और रेलवे मार्ग से ट्रांज़िट रूट की मांग की है. भारत ने बांग्लादेश की बंदरगाहों तक भी प्रवेश मार्ग की मांग की है.

मनमोहन सिंह ने कहा कि भारत ने पहले ही नेपाल और भूटान को बांग्लादेश से जोड़ने के लिए सड़क और रेल मार्ग को खोल दिया है.

संबंधित समाचार