'ठेकों में पारदर्शिता हो'

  • 12 सितंबर 2011
डॉक्टर मनमोहन सिंह इमेज कॉपीरइट PIB
Image caption प्रधानमंत्री डॉक्टर सिंह ने जनता का हित सबसे ऊपर रखने की बात पर ज़ोर दिया

प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने राष्ट्रीय राजमार्गों से जुड़ी परियोजनाओं के ठेकों में पारदर्शिता बरतने की अपील की है जिससे किसी तरह के पक्षपात की संभावना ख़त्म हो सके.

राष्ट्रीय राजमार्गों में सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों की भागीदारी से जुड़े एक सम्मेलन में प्रधानमंत्री ने कहा, "ये दिखाना ज़रूरी है कि परियोजनाओं के ठेके दिए जाने, निर्माण कार्य और परियोजना चलाने के काम निष्पक्ष और पारदर्शी तरीक़े से हुए जिससे किसी तरह के पक्षपात या अपनों को काम में लगाने के संदेह से बचा जा सके."

प्रधानमंत्री ने ये भी कहा कि व्यापक स्तर पर सड़कों के निर्माण के काम में 'अपनी सफलता आँकने के लिए कुशलता, किफ़ायत, प्रतियोगिता और पारदर्शिता को पैमाना बनाना होगा.' डॉक्टर सिंह के अनुसार जब निजी क्षेत्र के साथ काम करना हो तो ये और भी ज़रूरी हो जाता है.

उन्होंने कहा, "हमें ये याद रखना चाहिए कि ये सार्वजनिक क्षेत्र की परियोजनाएँ हैं जहाँ लोगों का हित हमारे मन में सबसे ऊपर होना चाहिए."

सरकार ने 12वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान नौ प्रतिशत की विकास दर बरक़रार रखने के लिए बुनियादी ढाँचे के विकास की परियोजनाओं में एक खरब अमरीकी डॉलर तक के निवेश की योजना बनाई है.

उन्होंने भरोसा जताया कि देश की अर्थव्यवस्था विकास दर बनाए रखने की ये चुनौती पूरी कर लेगी.

संबंधित समाचार